किसानों द्वारा आज गुराडिया देदा बाईपास स्थित वृंदावन ढाबे के पास नए कृषि कानून के खिलाफ किया धरना प्रदर्शन । 100 किसानों द्वारा गिरफ्तारी भी दी गई ।




आज संयुक्त किसान मोर्चा के ऐलान पर 6 फरवरी के दिन हाईवे जाम का आह्वान किया था जिसके बाद किसानों ने आज दोपहर 12 से 3 तक हाईवे जाम कर नए कृषि कानून को वापस लेने की मांग की है । जिसके विरोध में  आज मंदसौर में भी धरना प्रदर्शन किया गया और महू नीमच हाईवे पर गुराडिया देदा बाईपास पर वृंदावन ढाबे के पास विरोध प्रदर्शन किया गया और कृषि बिल वापस लेने की मांग की गई । 

कानून के विरोध प्रदर्शन में पुलिस भी रही उपस्थित और 100 किसानों द्वारा गिरफ्तारी भी दी गई है । एसडीएम बिहारी सिंह का कहना है कि 61 लोगों ने अपनी गिरफ्तारी दी है । साथ ही किसान नेता अमृत पाटीदार का कहना है कि संयुक्त किसान मोर्चा जो भी आह्वान करेगा उसी पर विरोध प्रदर्शन आगे भी जारी रहेगा ।



आइए जानते हैं किसान नेता अमृतलाल पाटीदार का क्या कहना है


किसान नेता का कहना है कि आज काले कानून के विरोध में वृंदावन ढाबे के पास चक्का जाम कर विरोध प्रदर्शन किया गया जिसमें तीनों काले कानूनों को वापस लेने की मांग की गई । जो हमारे किसान भाई दिल्ली में और 2017 में इसी स्थान पर शहीद हुए थे उन्हें पहले श्रद्धांजलि दी गई।आज किसान चक्का जाम कर रहे थे जिसके पश्चात पुलिस ने लगभग 100 लोगों की गिरफ्तारी करी है । साथ ही किसान नेता ने कहा कि अगर दिल्ली के संयुक्त किसान मोर्चा आदेश करता है तो मंदसौर के हजारों किसान भी दिल्ली आंदोलन के लिए चले जाएंगे और जब तक सरकार इन काले कानूनों को वापस नहीं लेगी तब तक हमारा आंदोलन जारी रहेगा ।




वही दूसरी ओर पूरे भारत में किसानों द्वारा शांतिपूर्ण तरीके से चक्का जाम किया गया किसान नेता राकेश टिकैट का कहना है कि पूरे देश में आंदोलन जारी रहेगा और अब सरकार और किसानों के बीच बराबरी की टक्कर पर बातचीत होगी  । सरकार अगर कानून वापस लेगी तभी बातचीत होगी । राकेश टिकैत ने कहा कि अगर सरकार कानून वापस नहीं लेती है तो हम पूरे देश में आंदोलन करेंगे वह यात्रा भी करेंगे । 3 बजे आंदोलन खत्म होने से पहले किसानों ने 1 मिनट तक अपने वाहन के हाॅर्न बजाकर आंदोलन की समाप्ति की ।


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां