मंदसौर के किसान जल्द ही करा ले अपना गेहुं पंजीयन , गेहूं खरीदारी शुरू होगी 22 मार्च से, बाकी संभाग वालों को करना होगा 1 अप्रैल तक इंतजार



मध्य प्रदेश के किसानों के लिए बीते वर्ष की तरह इस वर्ष भी एमएसपी पर न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदारी के लिए पंजीयन चालू हो गए हैं । अभी सरकार ने केवल इंदौर -उज्जैन संभाग में गेहूं की खरीदारी के लिए प्रकिया शुरू कि है और यह खरीदारी 22 मार्च से शुरू होने वाली है । लेकिन 1 अप्रैल के बाद बाकी संभाग से भी गेंहु  की खरीदारी शुरू कर दी जाएगी ।



आइए जानते हैं सरकार गेंहू पर कितना समर्थन मूल्य देंगे ।



पिछले साल सरकार ने गेंहू 1925 रूपए के न्यूनतम समर्थन मूल्य में खरीदारी की थी लेकिन अब इस वर्ष सरकार ने प्रति किलो पर 50 पैसे बढ़ा दिए हैं जो अब 1975 रूपए प्रति क्विंटल पर खरिदारी की जाएगी । 

सरकार के आंकड़ों के अनुसार इस वर्ष 125 मीट्रिक टन गेहूं की खरीदारी का अनुमान लगाया है । अभी तक 4.13 लाख किसानों ने अपना पंजीकरण करवा चुके हैं और सरकार का मानना है कि गेहूं लिए 20 लाख किसान पंजीकरण करवा सकते हैं । इस वर्ष गेहूं रकबा 98.20 लाख हेक्टेयर बोनी रहा है । इसके अंतर्गत सिकमी व बटाईदारों को 5 हेक्टेयर रकबे तक पंजीकरण करवाने की सुविधा है । साथ ही इसके लिए खरीदारी के कुल 4529 केंद्र बनाए गए हैं ।



चना मसूर और सरसों की खरीदारी भी शुरू होगी 15 मार्च से ।


मध्य प्रदेश सरकार ने गेहूं से पहले सरसों, मसूर और चने की खरीदारी शुरू करने के निर्देश दिए हैं 15 मार्च से यह खरीदारी शुरू हो जाएगी सरकार ने इस बार सरसों का समर्थन मूल्य 4650, चने का समर्थन मूल्य का 5100  रुपए ,मसूर का समर्थन मूल्य 5100 तय किया गया है ।


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां

Popular Posts

#मंदसौर: लापता राहुल पाटीदार की लाश मिली, पूरे इलाके में फैल गई सनसनी, पुलिस मामले की जांच में लगी हुई है, पढ़े खबर
किसानों के कर्ज में माफ होंगे सहकारी बैंक से लिए गए 550 करोड़ रुपए की ब्याज राशि ,शिवराज कैबिनेट ने मंगलवार के दिन लिया गया हम फैसला ।
देश का पहला CNG से चलने वाला ट्रैक्टर हुआ लॉन्च  किसानों की लगभग 2 लाख रुपए तक की बचत करेगा प्रत्येक वर्ष , सीएनजी से चलने वाले ट्रैक्टर कि क्या है खासियत ।
 अगर आप गुप्ता चौराहे पर कचौरी-समोसा खाने जा रहे हैं तो हो जाए सावधान, आपका वाहन अस्त-व्यस्त खड़ा मिला तो कट जाएगा चालान
उत्तराखंड में फिर से तबाही: ग्लेशियर फटने से नदी किनारे वाले सभी घर बहे, कई लोग पानी के साथ बह गए, कुछ लोगों की गई जान