कोरोना ने फिर बढ़ाई टेंशन, शिवराज सरकार ने दिए महाराष्ट्र से आने वाले लोगों पर नजर रखने के निर्देश



देश में जैसे तैसे कोरोना के केस धीरे धीरे कम हो रहे थे और ऐसा लगने लगा था कि अब कुछ ही समय में कोरोना पूरी तरह से समाप्त हो जाएगा। लेकिन फरवरी में अचानक कोरोना की रफ्तार बढ गई है।राजधानी भोपाल और इंदौर सहित मध्य प्रदेश के दूसरे जिलों में बढ़ रहे कोरोना मरीजों को लेकर शिवराज सरकार अलर्ट हो गई है।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रालय में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए सख्ती बरतने के निर्देश दिए हैं। सरकार इसके प्रति सतर्क हो गई है। शिवराज सरकार द्वारा निर्देश दिए गए हैं कि मध्यप्रदेश के जिन जिन जिलों की बॉर्डर महाराष्ट्र से लगी हुई है वहां से आने वाले सभी लोगों की जांच की जाएगी।जबकि प्रदेश में मास्क लगाना और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सभी को करने के निर्देश दिए गए हैं।


पिछले 24 घंटो में अचानक बढ़ गए हैं कोरोना के मरीज


दरअसल, पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश में कोरोना के 294 नए मरीज मिले हैं। जिनमें से 104 मरीज इंदौर और 76 मरीज राजधानी भोपाल से सामने आए हैं। इतने केस अचानक आ जानें के कारण सरकार सतर्क हो गई है। सरकार ने तुरंत सख्ती बरतने के निर्देश दिए हैं। सीएम शिवराज ने प्रदेश के सभी जिले के कलेक्टरों के साथ बैठक करते हुए कहा कि कोरोना को लेकर सतर्कता बरतना बहुत जरूरी है। सीएम ने कहा कि मास्क लगाना कोई नई बात नहीं है, जब से कोरोना शुरू हुआ है मास्क लगाया जा रहा है।इसलिए जबतक कोविड का असर पूरी तरह से खत्म नहीं हो जाता, तब तक सभी को मास्क अनिवार्य रूप से लगाना है।


नियमों का पालन नहीं करने पर कार्यवाही की जाएगी

 

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कलेक्टरों को निर्देश दिए हैं कि मास्क और सोशल डिस्टेसिंग का पालन नहीं करने पर कार्रवाई की जाए। इसके अलावा गृह विभाग की तरफ भोपाल, इंदौर, होशंगाबाद, बैतूल, सिवनी, छिंदवाड़ा, बालाघाट, बड़वानी खंडवा, खरगोन, बुराहनपुर और अलीराजपुर जिलों के कलेक्टरों को निर्देश दिया गया है कि 23 फरवरी को वे अपने-अपने जिले में जिला क्राइसिस कमेटी बैठक आयोजित कर कोविड की रोकथाम की  प्लानिंग करें। और स्थिति को देखकर और भी दिशानिर्देश बनाएं।



महाराष्ट्र से आने वाले हर व्यक्ति की होगी जांच



पिछले कुछ दिनों से महाराष्ट्र में फिर से कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ रही है।मध्य प्रदेश के मुकाबले महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा कोरोनावायरस बढ़ रहे हैं जिसकी सीमा हमारे प्रदेश से मिलती है। कई जिलों की सीमा से लगी हुई है इसलिए बैठक में यह डिसीजन लिया गया है कि महाराष्ट्र की तरफ से आने वाले सभी लोगों की जांच करवाई जाएगी। इसके अलावा आवागमन के दौरान भी सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ