महज 12 साल की उम्र में पास की 12वीं की कक्षा, इंदौर की रहने वाली तनिष्का का यह जज्बा देखकर करेंगे आप भी सलाम ।

 









इंदौर की रहने वाली छात्रा तनिष्का का सपना है कि वह सबसे कम उम्र में एलएलबी करना चाहती है। तनिष्का ने महज 11 साल की उम्र में 10 वीं और 12 साल की उम्र में 12 वीं पास की है। तनिष्का मध्य प्रदेश की पहली ऐसी छात्रा है जो विशेष परमिशन के बाद क्लास जंप कर सकी लेकिन मध्यप्रदेश में ऐसा कोई नियम नहीं है कि किसी को बिना कक्षाओं में आगे की कक्षा में बिठाया जा सके लेकिन तनिष्का की ज्ञान कोशल को देखते हुए उनके माता-पिता की जद्दोजहद के बाद उनके प्रयासों से उसे आगे की कक्षा में बिठाया गया है।

तनिष्का को 10 वीं कक्षा में परीक्षा देने से पहले 9 वीं कक्षा पास करने के लिए महज 20 दिन दिए गए थे जिनके ज्ञान कौशल के बाद वह 20 दिन में 9 वी की कक्षा पास कर दिखाइए ओर लगातार आगे बढ़ रही है। 


तनिष्का बिना देखे लिख भी सकती है ओर वह रूबिक क्यूब गेम को बिना देखे साल कर सकती है। जिसके लिए तनिष्का का नाम एशिया बुक में में भी दर्ज किया गया है वह एक डांसर भी है और साथ ही वह यूरोप में इसका प्रर्दशन भी कर चुकी है। वहीं नहीं तनिष्का को लगभग 10 भाषाओं का भी ज्ञान है  ।


तनिष्का के माता-पिता इंदौर में एक छोटे स्कूल चला रहे हैं तनिष्का के पिताजी का कुछ दिनों पहले ही कोविड़  -19 के कारण  देहांत हो गया था ।तनिष्का कि आयु कम होने की वजह से उन्हें अभी तक लाॅ में एडमिशन नहीं मिला है लेकिन अभी इंदौर में देवी अहिल्या बाई विश्वविद्यालय से बी.ए. में स्कूल ऑफ लाइफलाॅन्ग से पढ़ाई कर रही है। 



इंदौर के सांसद शंकर लालवानी के प्रयास से तनिष्का को इंदौर के कॉलेज में एडमिशन मिल पाया है। साथ ही उन्होंने इंदौर के कलेक्टर से बात कर तनिष्का से मिलने को कहा है तनिष्का ने कहा है कि सांसद जी की वजह से ही कॉलेज में एडमिशन मिला है। सांसद ने कहा कि तनिष्का की रुचि के कोर्स के लिए मैं भारत सरकार के मंत्री रमेश पोखरियाल वह राज्य सरकार से बात कर उन्हें जल्द उनकी दिलचस्पी के अनुसार कॉलेज में एडमिशन दिलाया जाएगा।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ