पूर्व सरपंच व उनके परिवार द्वारा अवैध अफीम खेती करते हुए पकड़ाए ,पुलिस द्वारा कार्रवाई पर मौके पर फरार हुए पूर्व सरपंच व उनके परिवार वाले ।

 





यह मामला सीहोर  थाने के गांव नरौआ का है जहां पूर्व सरपंच और उनके परिवार वालों द्वारा गेहूं की आड़ में अवैध अफीम की खेती की जा रही थी । पुलिस द्वारा मुकबरी की सूचना मिलने पर मौके पर खेत पर पहुंचे और रातो रात थी पुलिस ने ट्रैक्टर ट्राली मंगवा कर मजदूरों से सारी अफीम उखड़वादी लगभग पुलिस द्वारा अवैध रूप से एक ट्राली से ज्यादा अवैध अफीम के पौधे उखाड़ फेकाए । अफीम इतनी बड़ी हो गई थी कि उसके फूल आने शुरू हो गए थे जो अफीम अधिकारियों को उसकी भनक भी नहीं पड़ी । सूचना मिलने पर पुलिस द्वारा तुरंत कार्रवाई की गई और अफीम के अवैध खेत को नष्ट किया गया ।

पुलिस द्वारा की गई पूर्व सरपंच व उनके खिलाफ कार्रवाई ।

पुलिस द्वारा पूर्व सरपंच चंदन सिंह रावत उनके पुत्र मदन सिंह व परिवार के भाई ब्रज मोहन रावत एवं उनके भतीजे मलखान सिंह पुरुष सदस्य सहित चाय के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है । साथ ही पुलिस ने पटवारी को बुलाकर उनकी उपस्थिति में खेत की मपाई कराई गई तो  करीब लगभग 10 बिस्वा में अफीम की अवैध खेती पाई गई है । पुलिस ने ब्रज मोहन जिसमें कि उनके नाम जमीन थी के खिलाफ केस दर्ज किया गया है । साथ ही फरार आरोपियों की जांच की जा रही है ।



अवैध रूप से उगाई जा रही है अफीम के फूल आने शुरू हो गए थे अगर वहां पूर्ण रूप से उसे बेच देता तो लगभग 50 लाख रुपए तक तक की कीमत बताई जा रही है । यही नहीं इसे अगर तस्करों द्वारा आगे बेचा जाता तो उसकी कीमत और अधिक हो जाती । लेकिन पुलिस द्वारा मौके पर पहुंचकर कार्रवाई की गई है ।  पुलिस द्वारा ऐसे कई मामले पकड़े जा रहे जिसमें अवैध रूप से अफीम की खेती की जा रही है बिना लाइसेंस के अफीम की खेती करना  पूर्ण रूप से गैरकानूनी है ।





टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां