मंदसौर और नीमच तक बढ़ सकती है भिंड-रतलाम और ग्वालियर-रतलाम ट्रेनें, सांसद सुधीर गुप्ता ने की पश्चिम रेलवे के जीएम से चर्चा

 



नए साल के प्रथम माह में मंदसौर संसदीय क्षेत्र के मंदसौर और नीमच को एक नई ट्रेन मिल सकती है। इसके विषय में सांसद सुधीर गुप्ता ने कहा है कि मंदसौर और नीमच तक भिंड- रतलाम और ग्वालियर -रतलाम ट्रेन बढ़ाने के लिए पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक से चर्चा की है।

पहले या दूसरे सप्ताह में बढ़ सकती है मंदसौर और नीमच तक यह ट्रेनें

दो ट्रेनें बढ़ाने की बात कही जा रही है जिसमें रतलाम तक आ रही 11125/26 ग्वालियर-झांसी -रतलाम एक्सप्रेस और 21125/26 भिंड-रतलाम एक्सप्रेस को मंदसौर नीमच तक बढ़ाने पर चर्चा की है। महाप्रबंधक ने इस प्रस्ताव पर सैद्धांतिक सहमति दी है और जनवरी के पहले या दूसरे सप्ताह में यह ट्रेनें मंदसौर और नीमच तक बढ़ सकती है। सांसद सुधीर गुप्ता द्वारा जारी विज्ञप्ति में बताया गया कि ग्वालियर झांसी रतलाम एक्सप्रेस और भिंड रतलाम एक्सप्रेस ट्रेनों का परिचालन रतलाम तक ही हैं।इस कारण भिंड ग्वालियर जाने वाले यात्रियों को रतलाम जाना पड़ रहा है।

रेल मंत्री पीयूष गोयल को भी पत्र सौंपा गया था

यात्रियों की सुविधा को देखते हुए ट्रेन को मंदसौर और नीमच तक लाने के लिए काफी लंबे समय से प्रयास जारी था। इस हेतु पूर्व में रेल मंत्री पीयूष गोयल को पत्र भी सौंपा था। इसके साथ ही रेल मंत्री पीयूष गोयल व पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक से भी कई बार संपर्क किया। चर्चा होने के बाद पश्चिम रेलवे के जीएम ने इसे सैद्धांतिक मंजूरी भी दे दी है। पहले या दूसरे सप्ताह से यह ट्रेने शुरू हो सकती है।

पश्चिम रेलवे की बैठक में ट्रेनो के परिचालन पर चर्चा की गई थी

हाल ही में हुई पश्चिम रेलवे की बैठक में ट्रेनों के परिचालन पर भी चर्चा की गई थी। पश्चिम रेलवे जीएम ने इसको मंजूरी भी दे दी है। जल्दी ही अब ट्रेन की सौगात मंदसौर संसदीय क्षेत्र को मिल जाएगी। जनवरी के प्रथम व द्वितीय सप्ताह से ट्रेन का परिचालन मंदसौर और नीमच तक शुरू हो जाएगा। इस ट्रेन के शुरू होने से ग्वालियर और भिंड जाने वाले यात्रियों को सुविधाओं का लाभ मिलेगा। यात्रियों की सुविधा के साथ-साथ पर्यटन और व्यापारिक दृष्टि से भी इसका लाभ संसदीय क्षेत्र के लोगों को भी मिलेगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ