रामलला की नगरी बनेगी खूबसूरती और स्वच्छता की मिसाल,IIM इंदौर को मिला इसका जिम्मा, देश और दुनिया में होगी सबसे खूबसूरत और स्वच्छ

 


रामलला की नगरी अयोध्या आने वाला समय में देश और दुनिया में सबसे खूबसूरत नगरी होंगी। जहां उत्तर प्रदेश योगी सरकार का सपना है और इस सपने को सच में तब्दील करने की जिम्मेदारी IIM इंदौर को मिली है। अयोध्या नगर निगम ने रामलला की नगरी को स्वच्छ और सुंदर बनाने के लिए इंदौर आई आई एम के साथ एक एम ओ यू साइन किया है। इसमें योगी सरकार का सपना है कि अयोध्या नगरी को दुनिया में सबसे स्वच्छ और सुंदर बनाना है।


6 महीने में स्वच्छता मॉडल राज्य सरकार को सौंप दिया जाएगा


संस्थान के विशेषज्ञ मात्र 6 माह में राम नगरी के स्वच्छता मॉडल का प्लान तैयार करके राज्य सरकार को सौंप देंगे। इसके लिए अयोध्या नगर निगम और आईआईएम इंदौर के बीच एक एमओयू साइन किया गया है। योगी सरकार ने अयोध्या को दुनिया का बेहतरीन धार्मिक और आध्यात्मिक पर्यटन केंद्र बनाने का निर्णय लिया है। इसके लिए योगी सरकार द्वारा तैयारियां भी शुरू कर दी गई है।अयोध्या नगर निगम के आयुक्त विशाल सिंह ने बताया कि इंदौर मॉडल के तर्ज पर राम नगरी को भी इंटरनेशनल लेवल की सुविधा वाला पर्यटन केंद्र बनाना है और इसके लिए हमने तेजी से तैयारियां शुरू भी कर दी है। इसके लिए अयोध्या नगर निगम और आई आई एम इंदौर के बीच एक करार हुआ है।


3 साल से आईआईएम इंदौर अयोध्या नगर निगम के साथ करेगा काम


आईआईएम इंदौर 3 साल के लिए अयोध्या नगर निगम के साथ मिलकर इस प्रोजेक्ट के लिए साथ मिलकर काम करेगा। आईआईएम इंदौर को अयोध्या नगरी को स्वच्छ और सुंदर बनाने की जिम्मेदारी मिली है।अयोध्या के प्रमुख मंदिरों व नगर को स्वच्छ रखने के लिए सफाई संबंधी मौजूदा रणनीति में सुधार होगा। इस कार्य के लिए आईआईएम इंदौर 5 प्रोफेसर अयोध्या नगर निगम का सहयोग करेंगे।योगी सरकार के निर्देश पर रामचरितमानस की चौपाई की तर्ज पर अयोध्या नगर निगम स्वच्छता गीत भी तैयार करवा रहा है।


गीत को लोक गायिका मालिनी अवस्थी स्वर देगी


योगी सरकार के निर्देश पर जो स्वच्छता गीत बनाया जा रहा है उस गीत को स्वर लोक गायिका मालिनी अवस्थी देगी। इस गीत के जरिए लोगों को स्वच्छता के संबंध में जागरूक किया जाएगा।योगी सरकार की योजना रामचरित मानस की चौपाई  की तर्ज पर बने इस स्वच्छता गीत को न सिर्फ अयोध्या बल्कि पूरे उत्तर प्रदेश में घर-घर तक पहुंचाया जाएगा। समझौते के मुताबिक आईआईएम इंदौर अयोध्या में आध्यात्मिक और धार्मिक पर्यटन स्थल के रूप में स्वच्छता मानकों को बनाए रखने के लिए अपनी सेवाएं देगा।


  

 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां