राजस्थान के बाद मध्यप्रदेश में बिक रहा है सबसे महंगा पेट्रोल और डीजल, सरकार द्वारा लिया जा रहा है ज्यादा टैक्स,1 लीटर पेट्रोल की कीमत कैसे तय की जाती है

 


राजस्थान के बाद अब मध्य प्रदेश में पेट्रोल और डीजल सबसे महंगा बिक रहा है। मध्यप्रदेश के बालाघाट में पेट्रोल के दाम 96.58 और डीजल के दाम 86.70 रुपए प्रति लीटर तक पहुंच गए हैं। वही भोपाल में पेट्रोल के दाम 94.20 और डीजल 84.47 रुपए तक पहुंच गया है। ऐसा तो होता रहता है कि मध्यप्रदेश में पेट्रोल डीजल के दाम गिरते चढ़ते रहते हैं लेकिन इस बार कई समय से दाम ऊपर ही जा रहे हैं। कई समय से दाम घटने का नाम ही नहीं ले रहे हैं।


आखिर क्यों बढ़ रहें हैं लगातार पेट्रोल-डीजल के दाम


पेट्रोल डीजल के दाम लगातार बढ़ते जाने का कारण अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में हो रहे इजाफे के चलते यह स्थिति बनी है। पेट्रोल और डीजल के दाम में हो रही वृद्धि मई 2019 से लगातार चलती ही जा रही है। मई 2019 में 76. 79 रुपए लीटर पेट्रोल और 68.49 लीटर डीजल बिकता था। इस तरह देखा जाए तो पिछले 8 महीनों में लगभग ₹16 पेट्रोल और ₹16 डीजल में बढ़ गए हैं। यह बढ़ोतरी इतनी खामोशी से हो रही है कि आम जनता को तो इसका पता भी नहीं चल पा रहा है। आम जनता को पता भी नहीं चल रहा है कि उसकी जेब लगातार हल्की होती जा रही है।


पिछले 10 दिनों में 7 बार हुई है कीमत में बढ़ोतरी


पेट्रोल और डीजल के दाम में पिछले 10 दिनों में सात बार वृद्धि हुई है।इस वृद्धि के पीछे मुख्य कारण यह है कि मध्य प्रदेश सरकार द्वारा लिया जा रहा टैक्स। राजस्थान सरकार के बाद मध्य प्रदेश सरकार सबसे ज्यादा टैक्स वसूली करती है। पेट्रोल पर ₹38 एवं डीजल पर 28 फीसद टैक्स मध्यप्रदेश में लिया जा रहा है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल की कीमत $56 प्रति बैरल हो गई है। बाजार विशेषज्ञों के अनुसार कोरोना वैक्सीन को लेकर आए रुझानों के बाद अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में इजाफा हुआ है। जिसका असर दिखाई दे रहा है।उधर पेट्रोल डीजल की कीमतें बढ़ने से लोगों के घर का बजट भी गड़बड़ाना शुरू हो गया है।




टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां