मंदसौर# पशुपतिनाथ मंदिर में10 माह से बंद भोजनशाला होगी शुरू, ठहरने की व्यवस्था भी होगी, बाहर से आने वाले भक्तों को मिलेगा सहारा

 


मंदसौर पशुपतिनाथ मंदिर पर आने वाले भक्तों और जरूरतमंद लोगों को अब भोजन के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। पशुपतिनाथ आने वाले भक्तों को ठहरने की व्यवस्था और खाने पीने की व्यवस्था में परेशानियां होती थी लेकिन अब उनको परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा। यात्रियों को ठहराने के लिए भी मंदिर परिसर में कैफेटेरिया में सुविधा मिलेगी। भोजन निशुल्क मिलेगा जबकि ठहरने के लिए भक्तों से कम से कम राशि ली जाएगी। कोरोना के कारण प्रभावित हुई व्यवस्थाओं को अब धीरे-धीरे शुरू किया जा रहा है।


मार्च महीने से बंद पड़ी है भोजनशाला


पशुपतिनाथ मंदिर परिसर में भोजन माला कोरोना के कारण मार्च महीने से ही बंद पड़ी है। अब भोजन शाला की व्यवस्था 10 माह बाद शुरू होगी। इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी गई है।कोरोना संक्रमण से बचाव के साथ साथ ही 20 मार्च 2020 के बाद भगवान पशुपतिनाथ मंदिर परिसर में स्थित भोजनशाला को बंद किया गया था। भक्तों की आवाजाही भी 3 महीने बाद शुरू हुई थी। लेकिन भोजनशाला को बंद ही रखा गया था।कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीन आ चुकी है और कोरोना का डर भी लोगों में बहुत कम हो गया है। सभी प्रकार की गतिविधियां भी शुरू हो चुकी है।


पशुपतिनाथ मंदिर पर भी शुरू हो रही है थमी हुई सुविधाएं और व्यवस्थाएं


कोरोना की वैक्सीन आ आने के बाद और कोरोना का डर लोगों के मन में से कम हो जाने के कारण अब पशुपतिनाथ मंदिर परिसर पर भी सभी रुकी हुई सुविधाएं एवं व्यवस्थाए शुरू की जाएगी।10 माह बाद 26 जनवरी से पशुपतिनाथ मंदिर परिसर में भोजनशाला को शुरू किया जाएगा।इससे भक्तों को निशुल्क भोजन मिलेगा और रहने के लिए भी कम राशि पर उचित व्यवस्था मिलेगी। कोरोना काल में भोजनशाला बंद होने के कारण बाहर से आने वाले भक्तों को भोजन के लिए परेशान होना पड़ रहा था। अब भक्तों को मंदिर परिसर में भोजन व अन्य सुविधाएं भी मिलेगी।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां

Popular Posts

किसानों के कर्ज में माफ होंगे सहकारी बैंक से लिए गए 550 करोड़ रुपए की ब्याज राशि ,शिवराज कैबिनेट ने मंगलवार के दिन लिया गया हम फैसला ।
#मंदसौर: लापता राहुल पाटीदार की लाश मिली, पूरे इलाके में फैल गई सनसनी, पुलिस मामले की जांच में लगी हुई है, पढ़े खबर
देश का पहला CNG से चलने वाला ट्रैक्टर हुआ लॉन्च  किसानों की लगभग 2 लाख रुपए तक की बचत करेगा प्रत्येक वर्ष , सीएनजी से चलने वाले ट्रैक्टर कि क्या है खासियत ।
 अगर आप गुप्ता चौराहे पर कचौरी-समोसा खाने जा रहे हैं तो हो जाए सावधान, आपका वाहन अस्त-व्यस्त खड़ा मिला तो कट जाएगा चालान
उत्तराखंड में फिर से तबाही: ग्लेशियर फटने से नदी किनारे वाले सभी घर बहे, कई लोग पानी के साथ बह गए, कुछ लोगों की गई जान