मंदसौर मंडी में किसानों में आक्रोश अवकाश के दिन भी धरना प्रदर्शन 3 दिन तक लहसुन नहीं बिकने को लेकर किया हंगामा ।

अवकाश के दिन भी किसानों के बीच आक्रोश देखने को मिल रहा है कल मंदसौर मंडी में किसानों द्वारा मंडी कर्मचारियों के खिलाफ लेट लतीफी के कारण किसानों की फसल तीन-चार दिनों तक नीलामी नहीं होने के कारण किया विरोध प्रदर्शन ।




एक भूतपूर्व सैनिक मुकेश गुर्जर जो अभी वर्तमान में खेती कर रहे हैं उन्होंने कहा कि हम 3 दिन से परेशान हो रहे हैं अभी तक हमारी फसल नीलाम नहीं हुई है । और कहा कि अगर मंडी कमेटी को पता था कि 2 दिन का अवकाश है तो उन्होंने मंडी के अंदर इतनी  ट्रालीयों को मंडी परिषद के अंदर खाली करने के लिए परिवेश क्यों दिया । जिसको लेकर किसानों ने धरना दिया था तब तहसीलदार ने आश्वासन दिया था कि हम लहसुन बिकाने का प्रयास करेंगे । लेकिन सुबह किसानों ने तहसीलदार को फोन किया तो उन्होंने सारा कार्य एसडीएम पर डाल दिया । जिससे किसान मंडी में 3 दिन तक परेशान होते रहे ।

किसानों का कहना है कि पहले ही पता था कि 2 दिन से मंडी बंद रहेगी तो उन्होंने सुबह 10 बजे गेट नहीं खोलने चाहिए थे ताकि मंडी परिसर के अंदर पड़ी फसल बिक सके उसकेे बाद ही गेट खोलने थे । क्योंकि गेट खोलने से दोपहर के पहले की नीलामी तो हो गई लेकिन दोपहर के बाद जो सुबह गेट खोल कर फसल मंडी में आई थी उसकी नीलामी की गई जिससे 3 दिन तक वहां रह रहे किसानों की फसल की नीलामी ना होने के कारण किसानों में आक्रोश है और उनके द्वारा धरना प्रदर्शन दिया जा रहा है । उनके द्वारा कहा जा रहा है कि किसान 4 महीने में फसल तैयार करके व्यवस्थित तरीके से लाना जानते है तो मंडी परिसर को यह पता क्यों नहीं है कि अगर 2 दिन का अवकाश आ रहा है तो पहले मंडी परिसर में पहले पड़ी हुई फसल की नीलामी की जाए ।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां

Popular Posts

#मंदसौर: लापता राहुल पाटीदार की लाश मिली, पूरे इलाके में फैल गई सनसनी, पुलिस मामले की जांच में लगी हुई है, पढ़े खबर
किसानों के कर्ज में माफ होंगे सहकारी बैंक से लिए गए 550 करोड़ रुपए की ब्याज राशि ,शिवराज कैबिनेट ने मंगलवार के दिन लिया गया हम फैसला ।
देश का पहला CNG से चलने वाला ट्रैक्टर हुआ लॉन्च  किसानों की लगभग 2 लाख रुपए तक की बचत करेगा प्रत्येक वर्ष , सीएनजी से चलने वाले ट्रैक्टर कि क्या है खासियत ।
 अगर आप गुप्ता चौराहे पर कचौरी-समोसा खाने जा रहे हैं तो हो जाए सावधान, आपका वाहन अस्त-व्यस्त खड़ा मिला तो कट जाएगा चालान
उत्तराखंड में फिर से तबाही: ग्लेशियर फटने से नदी किनारे वाले सभी घर बहे, कई लोग पानी के साथ बह गए, कुछ लोगों की गई जान