मध्यप्रदेश में आज कोविड वैक्सीनेशन की प्रकिया सफलतापूर्वक हुई पुरी, मध्यप्रदेश ने कर ली थी पहले से सभी तैयारियां

 


पूरे देश में 16 जनवरी से कोरोना वैक्सीनेशन शुरू हो रहा था जिसमें मध्य प्रदेश में भी हिस्सा लिया था और मध्य प्रदेश में यह प्रक्रिया सफलतापूर्वक पूरी भी हुई। हालांकि मध्यप्रदेश में इसकी तैयारियां कब से पूरी कर रखी थी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करते हुए भी लिखा था कि मध्यप्रदेश में भी 16 जनवरी से होने वाले कोविड वैक्सीनेशन की  तैयारियां पूरी हो चुकी है।


सबसे पहले किसको लगाई गई वैक्सीन


कोरोना वैक्सीनेशन में सबसे पहले कोरोना की वैक्सीन स्वास्थ्यकर्मियों, पुलिस के जवानों और सभी फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन लगाई गई।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने यह भी कहा कि कोरोना की वैक्सीन सबसे पहले कोरोना वॉरियर्स को लगाई जाएगी। सीएम ने ट्वीट पर भी लिखा कि वैक्सीन सबसे पहले कोरोना वॉरियर्स, स्वास्थ्य से जुड़े लोगों को  लगाई जाएगी। स्वास्थ्य कर्मियों की प्रदेश में कुल संख्या 4,16,000 है‌। इसके बाद में पुलिस, सफाईकर्मी सहित दूसरे फ्रंटलाइन वर्कर्स को भी वैक्सीन लगवाई जाएगी।


टीका पूरी तरह से सुरक्षित है, भ्रम न फैलाए: सीएम


मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लिखा कि कोरोना का टीका पूरी तरह से सुरक्षित है,आप इस टीके से घबराए नहीं। सभी प्रदेश वासियों से आग्रह है कि संदेह का वातावरण न बनायें, सुनी-सुनाई बातों पर वैक्सीन के विरुद्ध भ्रम न फैलायें। ऐसी चीजें हमारी लड़ाई को कमजोर करेंगी। हम सबको मिलकर यह लड़ाई लड़ना है और जीतना भी है।



प्रदेश के चार बड़े शहरों को दिए जाएंगे 9 लाख डोज


आपको बता दें कि मध्य प्रदेश के चारों बड़े शहर भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर में करीब 9 लाख डोज दिए जाएंगे।सबसे ज्यादा इंदौर में 2.52 लाख लोगों को डोज दिया जाएगा। तो राजधानी भोपाल में 1 लाख 89 हजार लोगों को टीका लगाया जाएगा। पूरे देश के 41 शहरों में कोरोना वैक्सीन के  2 करोड़ से ज्यादा डोज फ्लाइटों के जरिए पहुंचाने की तैयारी की गयी है।





एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ