गांधी जी के सपने को साकार कर रहा है मध्य प्रदेश का एक गांव, 10 हथकरघा 20 चरखो से की गई थी शुरुआत, अभी चल रहा है 120 हथकरघा का संचालन



देश के राष्ट्रपिता और साबरमती के संत महात्मा गांधी ने समूचे देश को चरखे से स्वरोजगार की राह दिखाई थी। गांधी जी ने भी लोगों को आत्मनिर्भर बनने के लिए चरखा चलाकर स्वरोजगार की राह दिखाई थी। उसी चरखे से आचार्य श्री विद्यासागर महाराज  ने स्वरोजगार, स्वाभिमान और स्वदेशी का सपना देश के युवाओं को दिखाया है। 5 साल पहले उन्होंने मध्य प्रदेश में सागर जिले के बाहरा गांव में चरखा और हथकरघा केंद्र की नींव रखी थी और उसके द्वारा तैयार किए गए कपड़े को श्रमदान नाम दिया था।


चरखा बना सैकड़ों लोगों के रोजगार का जरिया


आज के समय में यही चरखा और हथकरघा देश के 15 गांव में सैकड़ों युवाओं के रोजगार का जरिया बन गया है। चरखे द्वारा तैयार की गई खादी स्वदेशी होने का स्वाभिमान जगा रही है और बेरोजगारी से जूझ रहे युवाओं को आत्मनिर्भरता का गुमान करवा रही हैं। दरअसल महात्मा गांधी के खादी से स्वरोजगार के मंत्र को जैन तीर्थ क्षेत्र बारहा में 2015 में आचार्य श्री विद्यासागर ने साकार किया। महाकवि पंडित भुरामल सामाजिक संस्था सहकार के नाम से हथकरघा केंद्र शुरू करवाया। शुरुआत 10 हथकरघा और 20 चरखो से की गई थी। गांव के युवाओं को प्रशिक्षण दिया गया अब इस केंद्र में 120 हथकरघा संचालित हो रहे हैं।


प्रतिदिन हो जाती है 300 से ₹700 तक की कमाई


चरखो और हद करके पर काम करने वाले लोगों की प्रतिदिन 300 से ₹700 तक की कमाई हो जाती है। गांव के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती है लेकिन कई बेरोजगार युवाओं को इस हथकरघा केंद्र से जोड़ा गया है। इस केंद्र की सफलता के बाद दूसरे चरण में अक्षय तृतीया पर 2016 को कुंडलपुर, अशोकनगर मंडला और डिंडोरी मैं केंद्र शुरू किए गए। इसके बाद 2017 में मुंबई में मुंब्रा के अलावा महाराष्ट्र के सिरडशाहपुर , कुंथलगिरी,पपोराजी और अजंता एलोरा में हथकरघा केंद्रों की शुरुआत की गई। इसके अगले वर्ष छत्तीसगढ़ के जगदलपुर, कर्नाटक के बेलगांव के सदलगा में केंद्र शुरू हुए।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Popular Posts

चुन्नु लाला पहुंचा मंदसौर: उदयपुर पुलिस गैंगस्टर को लेकर पहुंची मंदसौर, कोर्ट ने दिया 6 दिन का रिमांड, उदयपुर और मंदसौर पुलिस की कड़ी सुरक्षा में पेशी
राहत की किरण: मंदसौर में सामूहिक दुष्कर्म के 5 आरोपियों को मौत तक कैद की सजा, नाबालिग छात्रा को खेत में ले जाकर किया था दुष्कर्म
एक और गड़बड़ी: सिर्फ 6 माह 13 दिन में धंसा 28 करोड़ के शामगढ़ ओवरब्रिज का एप्रोच रोड, रास्ता हुआ बंद, सेतु विकास के इंजीनियर और निगरानी कंपनी की देखरेख में बना ब्रिज
मंदसौर: शहर के मुक्तिधाम में राख और अस्थियों के साथ हो रही छेड़छाड़, कुछ असामाजिक तत्वों ने शमशान को बना दिया है शराब का अड्डा
मंदसौर: पिपल्या मंडी थाना क्षेत्र में जहरीली शराब पीने से तीन लोगों की मौत, किराने की दुकान पर बेची जा रही थी जहरीली शराब, मौके पर पहुंचा प्रशासन