मंदसौर के संजय गांधी उद्यान में आयोजित किया गया रोजगार मेला , बड़ी संख्या में युवक व युवतियां उपस्थित रहे ।

 


कल मंदसौर के संजय गांधी उद्यान में सरकार की योजनाओं के तहत रोजगार मेले का आयोजन किया गया जिसमें बड़ी संख्या में युवक व युवतियां उपस्थित थे । वहां पहुंचे युवक-युवतियों का कहना है कि पढ़ाई करने के बाद भी रोजगार नहीं मिल रहा है । सरकार अगर कोई वैकेंसी भी निकलती है तो वह कुछ लोगों के लिए ही निकलती है । जिसमें पद से कहीं अधिक आवेदन किए जाते हैं जिनमें उन्हें निराशा का सामना करना पड़ता है ।

छात्रों का कहना है कि सरकार को युवाओं के लिए एक अच्छी योजना बनानी चाहिए जिसमें युवा अपने ही प्रदेश में रहकर रोजगार प्राप्त कर सके । बेरोजगार युवाओं पर कोई ध्यान नहीं देता है सब पार्टियां अपने हित की ही बातें करती है । 


आइए जानते हैं रोजगार मेले को लेकर मंदसौर कलेक्टर का क्या कहना है 


मंदसौर कलेक्टर मनोज पुष्प ने कहा कि विभिन्न कंपनियों को यहां पर बुलाया गया है व उनको जैसे छात्र चाहिए उन छात्रों का रजिस्ट्रेशन कर उन्हें भी आमंत्रित किया गया है । कलेक्टर ने कहा कि लगभग यहां पर 1000 युवाओं को रोजगार के लिए इंटरव्यू, या रोजगार लेटर प्राप्त हो जाएगा ।साथ ही कलेक्टर मनोज पुष्प ने कहा कि एसे रोजगार मेलों को हम समय-समय पर लगाया करेंगे व ओर अन्य कंपनियों को भी इस पर आमंत्रित किया जाएगा । हर महीने या 1 महीने के अंतराल में जब भी आवश्यकता होगी ऐसे  रोजगार मेलों का आयोजन किया जाएगा ।


इस रोजगार मेले के उपलक्ष्य में मंदसौर विधायक यशपाल सिंह सिसोदिया , केबिनेट मंत्री हरदीप सिंह डंग ,  कलेक्टर मनोज पुष्प सहित कई अन्य अधिकारी उपस्थित थे ।





टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां

Popular Posts

किसानों के कर्ज में माफ होंगे सहकारी बैंक से लिए गए 550 करोड़ रुपए की ब्याज राशि ,शिवराज कैबिनेट ने मंगलवार के दिन लिया गया हम फैसला ।
#मंदसौर: लापता राहुल पाटीदार की लाश मिली, पूरे इलाके में फैल गई सनसनी, पुलिस मामले की जांच में लगी हुई है, पढ़े खबर
देश का पहला CNG से चलने वाला ट्रैक्टर हुआ लॉन्च  किसानों की लगभग 2 लाख रुपए तक की बचत करेगा प्रत्येक वर्ष , सीएनजी से चलने वाले ट्रैक्टर कि क्या है खासियत ।
 अगर आप गुप्ता चौराहे पर कचौरी-समोसा खाने जा रहे हैं तो हो जाए सावधान, आपका वाहन अस्त-व्यस्त खड़ा मिला तो कट जाएगा चालान
उत्तराखंड में फिर से तबाही: ग्लेशियर फटने से नदी किनारे वाले सभी घर बहे, कई लोग पानी के साथ बह गए, कुछ लोगों की गई जान