कल मंदसौर में पिछले कुछ दिनों पहले शहीद हुए राजपूताना राइफल के शहीद जवान गोवर्धन सिंह के लिए दशपुर जागृति मंच द्वारा तिरंगा यात्रा निकाली गई जो अंत में शहीद के गांव पहुंची ।

 

दशपुर जागृति मंच द्वारा  शहीद गोवर्धन सिंह के लिए निकाली गई तिरंगा यात्रा शहीद के गांव जाकर परिवार को भेंट  किया सम्मान पत्र ।



  कल रविवार के दिन दशपुर जागृति मंच द्वारा शहीद जवान गोवर्धन सिंह के लिए तिरंगा यात्रा निकाली गई जो मंदसौर से उनके गांव गुड़भेली तक गई फिर दशपुर जागृति के संगठन के प्रधारिकारियों ने शहीद जवान के परिवार को सम्मान पत्र भेंट किया और कहा कि सेना में कार्यरत जवानों को विधानसभा एवं लोकसभा में 30% के आरक्षण की मांग की गई । यात्रा निकालने का मुख्य उद्देश्य शहीद हो रहे जवानों के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करना था ।

   जिसको लेकर बिते दिनों सिक्किम में सड़क दुर्घटना में शहीद हुए जिले के गांव गुड़भेली में रहने वाले शहीद गोवर्धन सिंह के परिवार को सम्मान पत्र भेंट किए दशपुर जागृति मंच द्वारा मंदसौर से यात्रा निकालते हुए शहीद के गांव जाया गया जहां उनके परिवार को सम्मान पत्र भेंट किया । साथ ही इस यात्रा के बाद दशपुर जागृति मंच ने एक मांग उठाई है एवं उनका कहना है कि देश में राजनीति पार्टियां भ्रष्टाचार कर रही है जिसमें की लोकसभा एवं विधानसभा में सेना के जवानों को 30% तक का आरक्षण मिलना चाहिए । ताकि वह इस गंदी राजनीतिक में सुधार कर सकें । साथ ही कहा कि शहीद का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा हम जवानों के हित के लिए आवाज बुलंद करेंगे।


दशपुर जागृति मंच के कार्यकर्ताओं ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा 


 पूर्व थाना प्रभारी एमपी सिंह ने परिहार कहा कि दशपुर जागृति मंच ने जो जागरूकता दिखाइए वह वास्तव में अमूल्य है गोवर्धन सिंह जो ड्यूटी में शहीद हो गए थे जिन का पार्थिव शरीर तिरंगे में लिपट कर उनके गांव आया था हम सभी ने मिलकर उनको श्रद्धांजलि अर्पित की थी । दशपुर जागृति मंच द्वारा आज तिरंगा यात्रा निकाली गई है जिसमें शहीद के गांव जाकर उनके परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की एवं उनको पेट पत्र समर्पित किया गया ।

दशपुर जागृति मंच के पदाधिकारी सत्येंद्र सिंह ने कहा कि जागरूक मंच हमेशा देश के प्रति जागरूक है एवं 11 सालों से देश की सेवा के प्रति सहयोग करता रहा है और वह मांग करता है कि सैनिकों में जो समस्या होती है जिसके लिए वह भटकता रहता है लेकिन आज गर्व  का विषय है कि प्रयासों के कारण सैनिकों को सम्मान दिया जा रहा है सरकार द्वारा एक करोड़ की राशि जब किसान आंदोलन में दी जाती है उसी तरह सरकार को भी सैनिकों के भी खाते में इसे तत्काल लाना चाहिए । हम 30 % का आरक्षण की मांग संसद भवन एवं  विधानसभा में करते हैं । एवं देश चलेगा तो सैनिकों के बताए मार्ग पर चलेगा वर्तमान में राजनीतिक पार्टियां भ्रष्टाचार के मार्ग पर चल रही है  । यदि सैनिक संसद में पहुंचेगा तो हमें विश्वास है कि कहीं हद तक देश में भ्रष्टाचार खत्म होगा एवं अमीर एवं गरीब की जो खाई बनी हुई है वह भी खत्म होगी ।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Popular Posts