मंदसौर नगर पालिका व विधायक यशपाल सिंह सिसोदिया के बीच हुआ तनातनी का माहौल

 Mandsaur news 




यह  मामला उस वक्त का है जब मंदसौर नगर पालिका सुबह-सुबह डिवाइडर नए बनवाने के लिए जेसीबी से उसको टुड़वाने पहुंची तो विधायक यशपाल सिंह सिसोदिया ने इसका विरोध किया और कहां की यह पीडब्ल्यूडी के अंतर्गत आता है  । 


आइए जानते हैं क्या है पूरा मामला - 


मामला यह है कि मंदसौर नगर पालिका ने एक टेंडर पास किया है जो लगभग तीन करोड़ का है जिसके अंतर्गत डिवाइडर का पूर्ण निर्माण किया जाना है । जिसको लेकर नगरपालिका में रामटेकरी पर से डिवाइडर को तोड़ना शुरू ही किया लेकिन थोड़े समय पश्चात अचानक काम रुक गया । 

 मंदसौर विधायक यशपाल सिंह सिसोदिया ने सीएमओ को पत्र लिखा और उनका कहना है कि यह डिवाइडर फोरलाईन मार्ग पर बनाया गया है जिसे नगर पालिका द्वारा तोड़ दिया गया है जिसे पूर्ण बनाया जा रहा था लेकिन उन्होंने नगर पालिका को पत्र लिखा कि यह मंदसौर फोरलेन मार्ग पर  डिवाइडर बनाए जाने को लेकर एक टेंडर निकाला है जिसमें लगभग तीन करोड़ के रुपए का निर्माण कार्य जारी करने का आदेश दिया गया है । जबकि जिला जेल से गुराडिया बालाजी  फोर लाइन पर लोक विभाग निर्माण द्वारा 25 करोड़ की कार्य योजना सीमेंट ,क्रिकंट , नाली निर्माण के प्रक्रिया है जिसमें मुख्यमंत्री ने मेरे आवेदन पर कहा है कि वह वित्त विभाग से स्वीकृति की प्रतीक्षा में है । इसलिए नगर पालिका द्वारा जारी की गई कार्य योजना निरस्त की जानी चाहिए । उन्होंने पत्र में लिखा कि अगर नगर पालिका चाहे तो लोकनिर्माण विभाग उन्होंने जो 25 करोड़ के बजट की स्वीकृति की है जो सड़क , डिवाइडर एवं नाली की योजना है अगर वह चाहे तो उनसे एनओसी लेकर विभाग से स्वीकृति लेकर अगर वह कार्य योजना को स्वीकृति देने में समर्थ हो तो इस योजना पर कार्य करें 

 


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ