माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया नए संसद भवन का भूमि पूजन कहां भारत कहलायेगा लोकतंत्र की जननी ।

संसद भवन का भूमि पूजन कहां भारत कहलायेगा लोकतंत्र की जननी

आज माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए संसद भवन की आधारशिला रखी   इस कार्यक्रम में सभी धर्म की प्रार्थना के बाद भवन की नींव रखी गई जिस कार्यक्रम में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला , कई केंद्रीय मंत्री ,उद्योगपति रतन टाटा एवं देश के विदेशी राजदूतों ने हिस्सा लिया । 


 आइए जानते हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्या - क्या कहा


भूमि पूजन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधित करते हुए कहा कि अब नई संसद भवन बनने जा रही है जिसे हम सभी देशवासी मिलकर नए संसद भवन को बनाएंगे ,

उन्होंने कहा कि वह दिन मुझे याद है जिस दिन मैंने पहली बार 2014 में सांसद के रूप में संसद भवन में पहुंचा उस समय मेने उस मंदिर को नतमस्तक होकर प्रणाम किया था , उन्होंने कहा कि भारत का लोकतंत्र एक संस्कार है जो लोकतंत्र के लिए मुल्य है जो ,जीवन पद्धति है एवं राष्ट्र जीवन की आत्मा है । 


आत्म निर्भर भारत के तहत नए संसद देगी भारत को बढ़ावा ।

जिस तरह पुराने संसद भवन ने भारत को दिशा दी है उसी तरह नए संसद भवन आत्मा निर्भर भारत के निर्माण का बनेगा । अब तक पुराने संसद भवन में देश की आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए काम हुआ है तो आप नए संसद भवन में 21वी सदी के लिए भारत की आकांक्षाएं पूरी की जाएगी । नए संसद भवन में कई ऐसी तकनीक का उपयोग किया जाएगा जिसमें सांसदों को आधुनिक  नई तकनीकी तरीके प्रस्तुत किए जाएंगे। हमारे देश के पुराने संसद भवन में आजादी के आंदोलन एवं स्वतंत्र भारत में अपनी एक अहम भूमिका निभाई है ।

  भारत के सभी भारतीयों द्वारा, भारतीयता के विचार से ओत प्रोत, भारत के नए संसद भवन का नव निर्माण कार्य, हमारे लोकतांत्रिक पडावो में से एक है ।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Popular Posts