आइए आज हम जानेंगे कि क्या है खास बात नए संसद भवन जो 971 करोड़ कि लागत से बनने जा रहा है ।




माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने नए संसद भवन के भूमि पूजन कि नींव रख दी है जो कि 2022 में बनकर तैयार हो जाएगा तो आइए जानते हैं क्या है खास बात इस नए संसद भवन में - 



1) लोकसभा में बैठक के सीटों कि संख्या में होगी अधिकता


नए लोक सभा मैं बेठने की सीटों मैं पहले से कहीं ज्यादा बैठने के सीटों की व्यवस्था की जाएगी । वर्तमान समय में अभी 552 ही सांसदों के बैठने की व्यवस्था की गई है लेकिन नए संसद भवन में अब 888 सांसदों के बैठने की व्यवस्था की जाएगी जो कि पहले से कहीं ज्यादा होगी आने वाले समय में सांसदों की संख्या बढ़ने पर सीटों की कमी नहीं होगी । बनने वाली नई लोकसभा पहले लोकसभा से 3 गुना होगी।


2) राज्यसभा की सीटों की संख्या में होगी अधिकता



नए संसद भवन की राज्यसभा का आकार भी पहले की संसद भवन से ज्यादा होगा वही अभी वर्तमान में 245 सीटों पर राज्यसभा के सांसदों की उपस्थिति होती है लेकिन अब इन सीटों की संख्या बढ़ाई जाएगी ताकि आने वाले समय में इसमें राज्यसभा सांसद की संख्या बढ़ने पर सीटों की कमी नहीं होगी । अब नए संसद भवन में राज्यसभा की सीटों की संख्या 384 कर दी गई है जो कि पहले से कहीं ज्यादा है ।


3) इकोफ्रेंडली के तहत होगा निर्माण 


आधुनिक नई संसद भवन के निर्माण में ग्रीन कंस्ट्रक्शन मटेरियल का उपयोग किया जाएगा जिससे कि इसमें ऐसे उपकरण का निर्माण किया जाएगा जिससे कि 30% कम बिजली की खपत होगी । साथ ही रेनवाटर हार्वेस्टिंग एवं सोलर पावर जनरेशन जैसी कई तकनीकी यंत्र का प्रयोग किया जाएगा इस नई तकनीकी संसद भवन का 64,500 वर्ग किलोमीटर का क्षेत्र है जिसका निर्माण टाटा प्रोजेक्ट लिमिटेड कराएगी जोकि एक भारत की स्वदेशी कंपनी है । एवं इस भवन की डिजाइन का प्रोजेक्ट एचसीपी डिजाइन प्लानिंग एंड मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड को दी गई है ।


4) सेंट्रल हॉल जैसी सुविधाएं नए संसद भवन में नहीं होगी


पुराने संसद भवन के जैसे नए संसद भवन में सेंट्रल हॉल जैसी सुविधाएं उपलब्ध नहीं होगी वर्तमान में संसद भवन में 436 लोगों कि क्षमता वाला सेंटर होल उपस्थित है यदि राज्यसभा और लोकसभा का विशेष सत्र बुलाया जाता है तो इसी सत्र में सामूहिक सत्संग बुलाना पड़ता है जिससे कि इसमें लगभग 100 कुर्सियो की अलग से जरूरत पड़ती है जो कि सुरक्षा के मायने से दिक्कत का सामना करना पड़ता है लेकिन अब नए संसद भवन में ऐसे ही किसी चुनौती का सामना नहीं करना पड़ेगा क्योंकि आप लोकसभा हाल में 1272 सीटो के बैठने की व्यवस्था की जाएगी।


5) लोकसभा एवं राज्यसभा स्ट्रक्चर का थीम होगा अलग-अलग 


लोकसभा एवं राज्यसभा में कमल एवं मोर का थीम लगाए जाएगा जो अलग अलग होगा राज्यसभा में कमल के फूल जैसी झलक दिखाई देगी ,जो कि राज्यसभा में थीम राष्ट्रीय फूल कमल का होगा । वहीं दूसरी ओर लोकसभा में राष्ट्रीय पक्षी मोर का थीम लगाया जाएगा ।



6) मीडिया के लिए अलग से खास सुविधाएं उपलब्ध होगी।


नया संसद भवन वैसे ही नई तकनीकी से बनाया जा रहा है जिसमें मीडिया के लिए भी खास सुविधाएं अलग से की गई है जिसमें मीडिया के लिए 530 सीटों का अलग से बैठने की व्यवस्था की गई है । साथ ही अगर कोई आम आदमी राज्यसभा एवं लोकसभा की कार्रवाई देखना चाहता है तो उसके लिए अलग से गैलरी की व्यवस्था की जाएगी जिससे कि वहां से स्पष्ट सदन की कार्यवाही देखी जा सकती है ।


7) हर सीट पर उपलब्ध होगी नई आधुनिक सुविधाएं


सांसदों के लिए प्रत्येक सीट पर नए आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी जिससे कि हर सीट पर मल्टीमीडिया डिस्प्ले उपलब्ध कराया जाएगा जो कि आजादी के बाद के लिए सबसे‌ महत्त्वपूर्ण होगा । 

एवं नई संसद भवन का निर्माण जॉन 4 में कराया जा रहा है जिस कारण एनसीआर में भूकंप का खतरा बना रहता है इस तरह नए संसद भवन को इतना मजबूत बनाया जाएगा कि आने वाले भूकंप के झटके भी वह सहन कर सके ।



8) नई संसद भवन में बच्चों, बुजुर्गों एवं लोगों की एंट्री आसानी से होगी ।


नई संसद भवन को जनता का भवन बनाया जाता है जिसमें की बच्चों ,बुजुर्गों एवं दिव्यांग जनों की एंट्री आसानी से हो पाएगी । आम जनता के लिए दो खास एंट्री पॉइंट होंगे । जिससे वह पब्लिक गैलरी तब पहुंच सकेंगे ,साथ ही नए भवन में फायर सेफ्टी की सुविधा भी उचित की जाएगी जो कि पहले भवन में नहीं थी ।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ