फिर लौट आया है चक्रवाती तूफान इन इलाकों में होगी मूसलाधार वर्षा कुछ इलाकों में जारी किया गया रेड अलर्ट।

मध्य प्रदेश मौसम खबर



   एक बार फिर से चक्रवर्ती तूफान बंगाल की खाड़ी में तेजी से बढ़ता है जो श्रीलंका के आसपास के और भारत के दक्षिणी-पूर्वी इलाके में टकराने की है संभावना ।
   
अभी कुछ बीते दिन पहले ही बंगाल की खाड़ी में निवार तूफान आया था जिससे काफी नुकसान देखने को मिला है लेकिन वही दूसरी ओर एक नई आफत सामने आ रही है जो फिर से चक्रवर्ती तूफान के लौट आने से है। 

मौसम विभाग ने जारी किया रेड अलर्ट


यह चक्रवर्ती तूफान अब फिर से लौट रहा है और मौसम विभाग में इसको लेकर कई जगह रेड अलर्ट जारी किया है बंगाल की खाड़ी में निम्न दबाव क्षेत्र बन गया है यह अब लगभग 10 से 12 घंटे के अंदर इसका डिप्रेशन परिवर्तन देखने को मिलेगा मौसम विभाग की जानकारी के अनुसार यह तूफान लगातार अपना गंभीर रूप बदल रहा है

किन-किन इलाकों में बारिश की संभावना


मौसम विभाग के अनुसार तूफान आने से पहले ही दक्षिणी तमिलनाडु और केरल में भारी बारिश की संभावना हो रही है मौसम विज्ञान के अनुसार कम दबाव क्षेत्र बना हुआ है इसके वह भी कम दबाव होने की संभावना है जिससे कि यह आगे यह चक्रवर्ती तूफान का रूप ले लेगा । जिसको लेकर 2 दिसंबर और 3 दिसंबर को तमिलनाडु और पांडुचेरी, लक्षदीप , आंध्र प्रदेश, केरल और दक्षिणी इलाकों में भारी बारिश की आशंका बताई जा रही है । इस तूफान की रफ्तार लगभग 65 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की बताई जा रही है ।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Popular Posts

चुन्नु लाला पहुंचा मंदसौर: उदयपुर पुलिस गैंगस्टर को लेकर पहुंची मंदसौर, कोर्ट ने दिया 6 दिन का रिमांड, उदयपुर और मंदसौर पुलिस की कड़ी सुरक्षा में पेशी
मानसून लाने के लिए लोग अपनाने हैं अजीब प्रथाएं, अविवाहित स्त्री को नग्न करके खेत जोताया जाता है, जानिए लोगों की यह प्रथाएं वाकई में काम करती हैं,कब और क्यो शुरू हुई यह प्रथाएं
राहत की किरण: मंदसौर में सामूहिक दुष्कर्म के 5 आरोपियों को मौत तक कैद की सजा, नाबालिग छात्रा को खेत में ले जाकर किया था दुष्कर्म
एक और गड़बड़ी: सिर्फ 6 माह 13 दिन में धंसा 28 करोड़ के शामगढ़ ओवरब्रिज का एप्रोच रोड, रास्ता हुआ बंद, सेतु विकास के इंजीनियर और निगरानी कंपनी की देखरेख में बना ब्रिज
मंदसौर: शहर के मुक्तिधाम में राख और अस्थियों के साथ हो रही छेड़छाड़, कुछ असामाजिक तत्वों ने शमशान को बना दिया है शराब का अड्डा