मंदसौर मंडी में गिरे प्याज के दाम आवक ज्यादा से भाव हुए कम, किसान आंदोलन के कारण भी भाव कम होने का कारण बताए जा रहे हैं ।

 




प्याज के दाम निरंतर गिरते जा रहे है जिसको लेकर मंदसौर मैं भी इसके असर देखने को मिल रहे हैं । पिछले माह में प्याज के दाम ₹4000 क्विंटल तक बिक रहे थे जोकि और धीरे-धीरे कम होते जा रहे हैं जो की भाव पहले से भी आधा रह गया है ।  पहले प्याज 4000 से ₹4500 क्विंटल बिक रहा था तो अब  दाम 2000 के आसपास बिक रहे हैं । 2 दिन पहले मंडी में बीके प्याज के न्यूनतम मूल्य 600 से अधिकतम  2200 तक रुपए तक ही रह गए हैं वही यह भाव नवंबर के अंतिम सप्ताह में चार हजार के आसपास चल रहा था । 

भाव कम को लेकर किसानों का क्या कहना है ।

मंदसौर के किसानों का कहना है कि भाव में निरंतर गिरावट आ रही है जिससे कि लागत भी निकालना मुश्किल हो रही है । वही मंडी व्यापारियों का कहना है कि आगे से भाव न्यूनतम है तो दामों में कमी देखने को मिल रही है । कुछ व्यापारियों का कहना है कि आवक ज्यादा होने से भाव कम देखने को मिल रहा है । नवंबर के अंतिम महीने में प्याज 1200 से 3700 रूपए क्विंटल बिक रहा था । तो अब वही भाव 600 से 1200 रुपए क्विंटल बिक रहे हैं ।

व्यापारियों का कहना है कि आगे से मांग कमजोर होने के कारण भाव में कमी देखने को मिल रही है । वहीं दूसरी ओर दिल्ली ,पंजाब बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन का कारण भी बताया जा रहा है जिससे कि माल आगे सप्लाई नहीं हो पाने के कारण भाव में गिरावट देखने को मिल रही है वही किसानों का कहना है कि इतने कम भाव में खेती की लागत निकालना ही मुश्किल हो रही है ।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Popular Posts

चुन्नु लाला पहुंचा मंदसौर: उदयपुर पुलिस गैंगस्टर को लेकर पहुंची मंदसौर, कोर्ट ने दिया 6 दिन का रिमांड, उदयपुर और मंदसौर पुलिस की कड़ी सुरक्षा में पेशी
राहत की किरण: मंदसौर में सामूहिक दुष्कर्म के 5 आरोपियों को मौत तक कैद की सजा, नाबालिग छात्रा को खेत में ले जाकर किया था दुष्कर्म
एक और गड़बड़ी: सिर्फ 6 माह 13 दिन में धंसा 28 करोड़ के शामगढ़ ओवरब्रिज का एप्रोच रोड, रास्ता हुआ बंद, सेतु विकास के इंजीनियर और निगरानी कंपनी की देखरेख में बना ब्रिज
मंदसौर: पिपल्या मंडी थाना क्षेत्र में जहरीली शराब पीने से तीन लोगों की मौत, किराने की दुकान पर बेची जा रही थी जहरीली शराब, मौके पर पहुंचा प्रशासन
मंदसौर: शहर के मुक्तिधाम में राख और अस्थियों के साथ हो रही छेड़छाड़, कुछ असामाजिक तत्वों ने शमशान को बना दिया है शराब का अड्डा