दोपहर में पकड़ी गई बोरवेल मशीन को तहसीलदार ने पत्र भेजकर छुड़वाया, FIR तक दर्ज नहीं

 



रिश्वत देने और लेने को अपराध बताने वाले कैबिनेट मंत्री हरदीप सिंह डंग के क्षेत्र में प्रभारी तहसीलदार सुनील डावर का एक कारनामा सामने आया है। तहसीलदार सुनील डावर ने दोपहर में जो बोरवेल मशीन पकड़ी गई थी उसे रात को पत्र भेजकर छुड़वा दिया और कोई एफ आई आर तक दर्ज नहीं की गई। सुनील डावर ने खनन माफिया पर एफ आई आर दर्ज नहीं होने दी और रातों-रात सब मामला साफ कर दिया।

एसडीएम द्वारा पकड़ी गई मशीनें 1 सप्ताह से थाने में खड़ी है

इस मामले में एसडीएम बिहारी सिंह का कहना है कि बोरवेल मशीनें तो हमने भी पकड़ी है , जो 1 सप्ताह से थाने में ही खड़ी है। यदि सुनील ने ऐसा किया तो उसे बताता हूं। क्षेत्र के ग्राम धलपट में शनिवार दोपहर 3:00 बजे मशीन को पकड़ा गया था।

तहसीलदार सुनील डावर ने ही मशीन को पकड़ा था

तहसीलदार सुनील डावर द्वारा जिस बोरवेल मशीन को रातों-रात छुड़वा दिया उस मशीन को सुनील डावर ने ही पकड़ा था। कार्रवाई करते समय तहसीलदार के अलावा राजस्व अमला और पुलिस टीम भी शामिल थी। वाहन को जप्त कर सुवासरा थाने में खड़ा कर दिया गया और वाहन दिन भर थाने परिसर में ही खड़ा रहा लेकिन रात को अचानक तहसीलदार ने थाने में लिखित आदेश भेजकर मशीन को छोड़ने के निर्देश दे दिए।

राजनीतिक दबाव के चलते तहसीलदार ने यह सब किया

मामले में अधिकारियों की भूमिका संदिग्ध नजर आ रही है। जानकारी से पता चला है कि तहसीलदार सुनील डावर ने उक्त बोरवेल मशीन को राजनीतिक दबाव के कारण बिना किसी कार्यवाही के छोड़ दिया है।

आश्चर्य की बात यह है कि जो वाहन पकड़ा गया था वह मंत्री श्री हरदीप सिंह डंग के किसी खास का होना बताया जा रहा है। तहसीलदार डावर से बात की गई तो उन्होंने वाहन को बाहर का होना बताकर इस पर कोई कार्यवाही नहीं करना बताया। वही टीआई का कहना है कि तहसीलदार के लिखित आदेश के बाद ही गाड़ी को छोड़ा गया था।

बोरवेल मशीन बिना सरकार की अनुमति के किसी स्थान पर नहीं चलाया जा सकता लेकिन यहां पर पुलिस द्वारा खनन करते हुए पकड़े जाने के बावजूद भी उन पर कार्यवाही नहीं कर के वाहनों को छोड़ा जा रहा है। जबकी वाहनों पर कार्यवाही करनी चाहिए।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Popular Posts

चुन्नु लाला पहुंचा मंदसौर: उदयपुर पुलिस गैंगस्टर को लेकर पहुंची मंदसौर, कोर्ट ने दिया 6 दिन का रिमांड, उदयपुर और मंदसौर पुलिस की कड़ी सुरक्षा में पेशी
मानसून लाने के लिए लोग अपनाने हैं अजीब प्रथाएं, अविवाहित स्त्री को नग्न करके खेत जोताया जाता है, जानिए लोगों की यह प्रथाएं वाकई में काम करती हैं,कब और क्यो शुरू हुई यह प्रथाएं
राहत की किरण: मंदसौर में सामूहिक दुष्कर्म के 5 आरोपियों को मौत तक कैद की सजा, नाबालिग छात्रा को खेत में ले जाकर किया था दुष्कर्म
एक और गड़बड़ी: सिर्फ 6 माह 13 दिन में धंसा 28 करोड़ के शामगढ़ ओवरब्रिज का एप्रोच रोड, रास्ता हुआ बंद, सेतु विकास के इंजीनियर और निगरानी कंपनी की देखरेख में बना ब्रिज
मंदसौर: शहर के मुक्तिधाम में राख और अस्थियों के साथ हो रही छेड़छाड़, कुछ असामाजिक तत्वों ने शमशान को बना दिया है शराब का अड्डा