भारत ने उठाया बड़ा कदम पाकिस्तान को गिलगित बलुचिस्तान को लेकर लगा झटका

India vs Pakistan

 पाकिस्तान ने काफी समय से गिलगित बलूचिस्तान में अवैध कब्जा कर रखा है जिसको लेकर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने रविवार को गिलगित बलूचिस्तान को अग्रिम प्रांत का दर्जा देने की घोषणा की थी।

   जिसको लेकर भारत की ओर से 24 घंटे के भीतर ही दो बार पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी जारी करते हुए कहा कि गिलगित बलूचिस्तान समेत pok के भारत का अभिन्न अंग है  । भारत ने पाकिस्तान की घोषणा के बाद 2 दिन में दो बार चेतावनी जारी करते हुए कहा कि वह पीओके को खाली करे ऐसा नहीं करने पर भारत बहुत जल्द कोई ठोस कदम उठा सकता है भारत यह  साफ कह चुका है कि वह पीओके को वापस लेने का मन बना चुका है और इसके लिए उसे कोई भी कीमत क्यों न चुकानी पड़े वह उसके लिए पीछे नहीं हटेगा ।

   *भारत के इस कदम से पाकिस्तान में मची खलबली*


  भारत के इस ठोस कदम को देखकर पाकिस्तान में खलबली मची हुई है उसे अभी से डर लगने लगा है कि भारत कोई ठोस कदम ना उठा ले इस बात को लेकर पाकिस्तान में अभी से खलबली मची हुई है इमरान सरकार और उनके मंत्री मीटिंग कर रहे हैं और बार-बार मीटिंगो का दौर जारी है  भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट करते हुए पाकिस्तान को खुली चेतावनी देते हुए कहा कि हम लोग नहीं चाहते थे कि भारत का विभाजन हो लेकिन हो गया हमने वहां हिंदू- बौद्ध- सिख समुदाय के अल्पसंख्यकों पर हो रहे अत्याचार के प्रति कानून बनाया है इसकी जानकारी आपको भी है गिलगित बलूचिस्तान पर पाकिस्तान ने अवैध कब्जा किया हुआ है जिसको लेकर उसने अग्रिम प्रांत बनाने की घोषणा की थी जिस का विरोध करते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कठोरता से उसका विरोध किया है राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान समेत पीओके में हो रहे अल्पसंख्यकों को पर अत्याचार के सवाल खड़े किए हैं । और साथ ही विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी दी है । वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान के सेना प्रमुख सेनाओं को युद्ध के लिए तैयार कर रहे हैं अचानक  युद्ध जैसी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहें।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां

Popular Posts

#मंदसौर: लापता राहुल पाटीदार की लाश मिली, पूरे इलाके में फैल गई सनसनी, पुलिस मामले की जांच में लगी हुई है, पढ़े खबर
देश का पहला CNG से चलने वाला ट्रैक्टर हुआ लॉन्च  किसानों की लगभग 2 लाख रुपए तक की बचत करेगा प्रत्येक वर्ष , सीएनजी से चलने वाले ट्रैक्टर कि क्या है खासियत ।
उत्तराखंड में फिर से तबाही: ग्लेशियर फटने से नदी किनारे वाले सभी घर बहे, कई लोग पानी के साथ बह गए, कुछ लोगों की गई जान
खराब मौसम से अफीम फसल खराब, फसल को नष्ट नहीं करें ताकि पोस्ता ले सके सभी किसान
मंदसौर पशुपतिनाथ मंदिर में 16 फरवरी ( बसंत पंचमी) के दिन लगने जा रहा है विश्व का सबसे बड़ा घंटा । आइए जानते हैं इस घंटे की क्या है विशेषताएं ।