मंदसौर जिला जेल में बड़ी संख्या में पहुंचे कैदी के परिजन, कैदी से मिलने 6 महीने बाद हुई मुलाकात शुरू

Mandsaur news 

 मंदसौर जेल में बंद कैदियों से मिलने पहुंचे परिजन लगभग 6 महीने बाद के कैदियों से मिलने का सिलसिला शुरू हुआ। परिजनों को 6 महीने बाद कैदियों से मिलने की मिली अनुमति। कोरोना के चलते मंदसौर जिला जेल में किसी भी कैदी को अपने परिजन से मिलने की अनुमति नहीं थी लेकिन अब कोरोना का प्रभाव धीरे होने के कारण परिजन कैदियों से मिल सकते हैं। नवंबर से यह प्रतिबंध हटा दिया गया। किंतु कोरोना के अभी भी कुछ प्रभाव के कारण नियम और निर्देश जारी किए गए हैं उन्हीं के अनुसार परिजनों को नियम का पालन करते हुए कैदी से मिलना होगा। कोरोना के चलाते हुए कैदियों से मिलने के लिए समय कम कर दिया गया है। पहले जब कैदियों से मिलने के नियम सप्ताह में दो बार थे। वहीं अब सप्ताह में सिर्फ एक बार कैदी से मिलने का नियम हो गया है। जेल अधिकारी द्वारा जानकारी दी गई है की परिजनों के मिलने की भीड़ सोमवार को सबसे ज्यादा रहती है। नियमों के अनुसार परिजनों को बिना मास्क के एंट्री नहीं दी जाएगी और हाथ धोकर परिजन से मिलना पड़ेगा साथ ही सभी परिजनों को उचित दूरी बनाए रखनी होगी। कोरोना काल में भीड़ को नियंत्रण करने के लिए यह नियम लगाए गए हैं।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां

Popular Posts

#मंदसौर: लापता राहुल पाटीदार की लाश मिली, पूरे इलाके में फैल गई सनसनी, पुलिस मामले की जांच में लगी हुई है, पढ़े खबर
देश का पहला CNG से चलने वाला ट्रैक्टर हुआ लॉन्च  किसानों की लगभग 2 लाख रुपए तक की बचत करेगा प्रत्येक वर्ष , सीएनजी से चलने वाले ट्रैक्टर कि क्या है खासियत ।
खराब मौसम से अफीम फसल खराब, फसल को नष्ट नहीं करें ताकि पोस्ता ले सके सभी किसान
उत्तराखंड में फिर से तबाही: ग्लेशियर फटने से नदी किनारे वाले सभी घर बहे, कई लोग पानी के साथ बह गए, कुछ लोगों की गई जान
मंदसौर पशुपतिनाथ मंदिर में 16 फरवरी ( बसंत पंचमी) के दिन लगने जा रहा है विश्व का सबसे बड़ा घंटा । आइए जानते हैं इस घंटे की क्या है विशेषताएं ।