इंसान की आंखें कितना मेगापिक्सल होती है (How many megapixels does a human's eye )

इंसान की आंखों का लेंस कितना मेगापिक्सल होता है

मानव शरीर में आंखें बहुत ही महत्वपूर्ण अंग है और आज का विज्ञान भी यदि यह खराब हो जाए या दिखना बंद हो जाए तो उसे पूर्ण रूप से आंख नहीं लौटा सकता यह कुदरत का करिश्मा ही है जो भगवान ने हमें इस विचित्र दुनिया को देखने के लिए आंखें प्रदान की


आखिर आंखों का लेंस कितना मेगापिक्सल होता है 

जिस तरह मोबाइल कैमरास में लेंस को मापने के लिए मेगापिक्सल का उपयोग किया जाता है उसी प्रकार यदि आंखों के लेंस को भी मापा जाए तो यह लगभग 576 मेगापिक्सल होती है अगर आसान भाषा में कहा जाए तो इंसान की दोनों आंखें मिलकर जो एक छवि देखती है और उस छवि को इंसानी दिमाग तक पहुंचाती है उसी के आधार पर मानव की आंखें 576 मेगापिक्सल होती है इस रंगीन दुनिया को देखने के लिए भगवान द्वारा जो आंखें दी गई है उन्हें कोई भी दोबारा नहीं दे सकता हम जिस रंगीन दुनिया को देखते हैं उसको देखने के लिए आंखें सबसे बड़ी भूमिका निभाती है

मानव की एक आंख कितना मेगापिक्सल होती है

यह सवाल बहुत सी बार आता है कि जब दोनों आंखें मिलकर साथ 576 मेगापिक्सल की छवि बनाती है तो एक आंख कितने की छवि बनाती है और यदि हम बताएं तो आप हैरान हो जाएंगे कि अभी तक इसकी गणना नहीं की गई है कि एक आंख मिलकर कितनी मेगापिक्सल की छवि बनाती है क्योंकि दोनों आंखें किसी एक ही बिंदु पर केंद्रित होकर छवि का निर्माण करती है जिससे इंसान को तू हां के होने के बावजूद भी एक ही दृश्य दिखता है  

मनुष्य की आंख कितना डिग्री एक साथ देख सकती है

मनुष्य की दोनों आंखें मिलकर 180 डिग्री के क्षेत्र को एक साथ देख सकती है और एक 90 डिग्री के क्षेत्र को देख सकती है किंतु मनुष्य की आंखें इस तरह डिजाइन की गई है कि वह एक ही बिंदु पर केंद्र बनाकर 180 डिग्री किस क्षेत्र को एक साथ देखती है इसीलिए मानव शरीर को दो आंखों की आवश्यकता होती है ताकि वह अधिक क्षेत्र और किसी क्षेत्र या वस्तु को अधिक ध्यान लगाकर या अधिक फोकस से देख सके

चील या बाज की आंख कितना मेगापिक्सल होती है


ऐसा माना जाता है कि चील और बाज की आंखें बहुत तेज होती है और यह इंसानों से भी अच्छा देख सकती है किंतु ऐसा नहीं है चील की आंखें किसी एक वस्तु या स्थान पर फोकस करने की क्षमता अधिक होती है किंतु उनके द्वारा किसी क्षेत्र की खींची गईं छवि इंसानों की आंखों से देखी गई छवि के बराबर ही होती है कहा जाए तो चील या बाज  की आंखें 576 मेगापिक्सल की होती है बस इनकी फोकस करने की क्षमता इंसानों से अधिक होती है इसलिए यह आसमान में अधिक ऊंचाई से ही अपने शिकार पर नजर जमा कर उसे पकड़ लेते हैं और यही कारण है कि जिसकी वजह से चील या बाज की आंखों को सबसे तेज कहा जाता है



गाय या भैंस की आंख कितने मेगापिक्सल होती है


गाय और भैंस की आंख मनुष्य की आंखों की तरह नहीं होती है इनकी आंखें दिमाग को दो अलग-अलग तस्वीरें भेजती है दाई आंख दाएं तरफ क्षेत्र की छवि कैसी है और बाएं आंख बाएं तरफ किस इत्र की छवि भेजती है और जो छवि मस्तिक तक भेजी जाती है वह लगभग 20 मेगापिक्सल के बराबर होती है इसलिए गाय या भैंस की आंखें 20 20 मेगापिक्सल की होती है देखा जाए तो इंसानों के मुकाबले इनकी आंखें काफी बड़ी बड़ी होती है लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि वह इंसानों से ज्यादा बेहतर देख सकते हैं बढ़िया कि उनके शरीर के हिसाब से बड़ी रहती है जिस तरह इंसानों की शरीर के हिसाब से उनकी आंखें रहती है हर जीव जंतु या मनुष्य की आंखें उसकी शरीर के आकार के हिसाब से ही रहती है

कुत्ते की आंख कितना मेगापिक्सल होती है

जिस प्रकार मनुष्य की आंखें 576 मेगापिक्सल की होती है उसी प्रकार कुत्ते की आंख कितना मेगापिक्सल है यह भी मापा नहीं गया है किंतु कुत्ते की आंखें अच्छी तरह देख सकती है क्योंकि वह हमेशा चौकन्ना रहता है और यह तभी मुनकिन है जब उसकी आंखें तेज बिना तेरी आंखों के वह इतना चौकन्ना नहीं रह सकता इसलिए माना जाता है कि कुत्ते की आंखें अच्छी तरह देख सकती है और कुत्तों की आंखों को लेकर यह बात भी है कि वह रात में इंसानों से अधिक अच्छी तरह देख सकते हैं जो इंसान अपनी आंखों से नहीं देख पाते हैं उन्हें कुत्ते आसानी से देख लेते हैं चाहे अंधेरा हो इसलिए कुत्ते की आंखें रात के वक्त इंसानों से अच्छी है



सांप की आंखें कितना मेगापिक्सल होता है

अभी तक इस बात का आकलन नहीं किया गया है कि सांप की आंखें कितने मेगापिक्सल होती है हालांकि पुराने लोगों द्वारा कहा जाता है कि सांपों की आंखों में किसी इंसान की फोटो रह जाए तो हजारों साल तक नहीं मिटती लेकिन यह कहीं सुनाई बात है यह कहां तक सच है अभी नहीं बता सकते 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां