आज हम आपको बताएंगे कि शरद पूर्णिमा का क्या महत्व है और इस वर्ष किस दिन मनाई जाएगी

 

   धार्मिक मान्यताओं के अनुसार शरद पूर्णिमा के दिन महालक्ष्मी की पूजा अर्चना की जाती है शरद पूर्णिमा के दिन चंद्रमा की किरणों से अमृत की वर्षा होती है जो कि हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है । 

       इस वर्ष शरद पूर्णिमा का महोत्सव अक्टूबर माह के दिनांक 31 /10 /2020 (शुक्रवार) को मनाई जाएगी ।

        इस दिन रात के 12:00 बजे देश के सभी शहर और गांव में सभी मंदिरों में भजन कीर्तन किए जाते हैं और 12:00 बजे देवी देवताओं की आरती की जाती है और प्रसाद वितरण की जाती है, और प्रसाद के रूप में खीर के वितरण का विशेष महत्व है।  इस दिन का इसलिए भी महत्व है इस दिन चंद्रमा  16 कलाओं से परिपूर्ण होता है साथ ही इस बात को कोमुदी व्रत , आश्विन पूर्णिमा व्रत के नाम से जाना जाता है । इस दिन चंद्रमा की रोशनी में खीर रखने का विशेष महत्व है और मान्यता है कि इस दिन समुंद्र मंथन के पर मां लक्ष्मी जी का जन्म हुआ । और इसी दिन भगवान विष्णु जी के साथ पृथ्वी भ्रमण पर निकले थे । 

        दोस्तों उम्मीद करते हैं कि आज आपको हमारे द्वारा बताए गए इस कार्यक्रम का महत्व प्राप्त हुआ होगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Popular Posts

चुन्नु लाला पहुंचा मंदसौर: उदयपुर पुलिस गैंगस्टर को लेकर पहुंची मंदसौर, कोर्ट ने दिया 6 दिन का रिमांड, उदयपुर और मंदसौर पुलिस की कड़ी सुरक्षा में पेशी
राहत की किरण: मंदसौर में सामूहिक दुष्कर्म के 5 आरोपियों को मौत तक कैद की सजा, नाबालिग छात्रा को खेत में ले जाकर किया था दुष्कर्म
एक और गड़बड़ी: सिर्फ 6 माह 13 दिन में धंसा 28 करोड़ के शामगढ़ ओवरब्रिज का एप्रोच रोड, रास्ता हुआ बंद, सेतु विकास के इंजीनियर और निगरानी कंपनी की देखरेख में बना ब्रिज
मंदसौर: पिपल्या मंडी थाना क्षेत्र में जहरीली शराब पीने से तीन लोगों की मौत, किराने की दुकान पर बेची जा रही थी जहरीली शराब, मौके पर पहुंचा प्रशासन
जहरीली शराब से एक और मौत, राजस्थान से आ रही थी मंदसौर में जहरीली शराब, पुलिस ने कार्यवाही कर किया बड़ा खुलासा