आइए हम जानते हैं भारत और अमेरिका के बीच हुआ BECA समझौता क्या है।

 भारत और अमेरिका के बीच हुआ BECA समझौता क्या है।

हाल ही में भारत और अमेरिका के बीच तीसरी बार 2+2 समझौता हुआ है जो कि एक महत्वपूर्ण समझौता हुआ है

   इस समझौते में भारत की ओर से भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को विदेश मंत्री एस जयशंकर उपस्थित थे और वही अमेरिका की ओर से  यू. एस. सीक्रेटरी ऑफ डिफेंस मार्क. टी.  एस्पर और यू. एस.  सीक्रेटरी ऑफ स्टेट माइक पोम्पियो ने इस वार्ता में हिस्सा लिया ।

    इस वार्ता में पारस्परिक हित  के सभी द्विपक्षी एवं क्षेत्रीय मुद्दे शामिल थे ।

    वार्ता के दौरान भारत और अमेरिका के बीच BECA  समझौता हुआ । आइए हम जानते हैं BECA समझौता क्या है  इसका पूरा नाम *बेसिक एक्सचेंज एंड कॉर्पोरेशन एग्रीमेंट* है । वहीं अमेरिका अपने नजदीकी देश और मित्र देश के साथ मिलिट्री बढ़ावा देने के लिए हाई एंड टेक्नोलॉजी की बिक्री के लिए चार फाउंडेशन एग्रीमेंट पर हस्ताक्षर करता है इन चार एग्रीमेंट में से चौथा एग्रीमेंट BECA है और तीन बाकी के एग्रीमेंट भारत और अमेरिका के बीच समझौता हुआ है लेकिन चौथे पर होना था जो अब हो चुका है ।

    इस समझौते के अंतर्गत दोनों देश सेटेलाइट एवं डाटा शेयर कर सकते हैं साथिया भारत अमेरिका के जियो स्पेशल डेटा का उपयोग कर सकता है इससे भारत की मिसाइल और डॉन जैसे हथियारों का इक्विटी लेवल बढ़ेगा। और भारत को इसका फायदा होगा ।

    साथ ही अमेरिका LAC  पर चीन की हरकत एवं हथियार संबंधित डाटा को भी भारत के साथ शेयर करेगा  ।

आइए जानते हैं कि भारत और अमेरिका के बीच हुए 2+2 डायलॉग के बीच समझौता

      

      इस समझौते में दोनों देश के रक्षा मंत्री और विदेश मंत्री भाग लेते हैं । जब अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत दौरे पर आए थे तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उनकी टू प्लस टू डायलॉग वार्ता हुई थी ।

      दोनों देशों के बीच टू प्लस टू मिनिस्ट्रियल डायलॉग सितंबर 2017 में दिल्ली में हुआ था यहीं दूसरा 2019 में वाशिंगटन डी.सी. में हुआ था । आपको बता दें कि इस डायलॉग कि शुरुआत 2015 में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के कार्यकाल में हुई थी । इस डायलॉग में दोनों देश के विदेश एवं वाणिज्य मंत्री भाग लेते थे ।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां