नए कृषि एक्ट के विरोध मैं मंदसौर मंडी अनिश्चितकाल तक बंद व्यापारियों ने रखी मांगे

अनिश्चित काल तक रहेगी मंदसौर मंडी बंद नए कृषि एक्ट के विरोध में

शुक्रवार को कृषि उपज मंडी में व्यापारियों की अनिश्चितकाल की हड़ताल शुरू होते ही मंडी सुनी हो गई व्यापारी अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर बैठे हैं मंदसौर मंडी में गुरुवार को भी किसानों की ट्रैक्टर बाहर खड़े रहे दलहन तिलहन महासंघ के आह्वान पर मंडी की पूर्व निर्धारित हड़ताल 24 सितंबर से शुरू हो गई है सभी व्यापारी कृषि एक्ट का विरोध कर रहे हैं  सभी भाइयों का कहना है कि मंडी के बाहर माल खरीदने पर टैक्स की छूट है और मंडी के अंदर माल खरीदने पर ₹1.70 पैसे टैक्स लगाया जा रहा है इसके अलावा भी मंडी के अंदर ऊपर खरीदने पर कई कागजी कार्रवाई करनी पड़ती है और मंडी के बाहर खरीदने पर ऐसी कोई कागजी कार्रवाई नहीं है व्यापारी मंडी शुल्क 50 पैसे किया जाए मांगों को लेकर मंदसौर मंडी के सभी व्यापारियों ने पूर्व निर्धारित शुरू करी है हड़ताल के दौरान उन्होंने नारेबाजी की लगाई है



हड़ताल पर बैठे व्यापारियों से चर्चा

हमारी हड़ताल यह है कि जो नया एक्ट आया है उसके विरोध में है हमें पूर्ण रूप से एक के विरोध में नहीं है हम एक के अंदर लाए गए नियमों से असंतुष्ट हैं क्योंकि जब व्यापारी मंडी के अंदर टैक्स देके पुरी कागजी कार्रवाई करें उपज खरीदता है एक्ट के नियम ऐसा कहा गया है मंडी के बाहर फसल खरीदने पर कोई टैक्स नही ना ही कोई कागजी कार्रवाई नहीं है इसलिए हम चाहते हैं हमारा टैक्स एक रुपए 70 पैसे से घटाकर 50 पैसे करी जाए और साथ ही कागजी कार्रवाई में भी कमी करी जाए जिससे हम व्यापार कर पाए 


इस खबर पर आपका क्या मानना है क्या यह जो विरोध किया जा रहा है सही है या गलत कमेंट करके जरूर बताएं

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां