News

News

कारगिल विजय दिवस पर फोजियो का किया सम्मान मंदसौर में आर्मी से रिटायर्ड होकर आए फौजी भाइयों का हुआ स्वागत ।

कारगिल विजय दिवस #couragelnkargil 


मंदसौर के नाहरगढ़ नगर के ग्रामीणों ने देश की सेवा कर रहे फौजियों का किया स्वागत हाथ फूल माला देकर किया सम्मान सेवा से रिटायर हुए फौजी और छुट्टियों पर आए फौजियों का किया गया सम्मान ग्रामीणों तथा फौजियों के परिजनों द्वारा उनके घर लौटने उनकी सेवा कार्यकाल को पूरा होने की खुशी में और देश की सेवा के लिए उनके धन्यवाद के रूप में उनका भव्य स्वागत किया गया ग्रामीणों ने फौजियों को माला पहनाई फूलों की वर्षा करें और साफा बांध के सम्मान दीया और साथ ही कारगिल के युद्ध में जो जवान देश की रक्षा के लिए शहीद हो गए उनको लेकर भी ग्रामीणों ने 2 मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित करें और बाकी सभी फौजियों का स्वागत किया जो आज भी देश की सेवा में लगे हुए हैं 


कारगिल के युद्ध का कुछ शब्दो में वर्णन

भारत के फौजियों के लिए कारगिल का युद्ध उनकी शान है कहा जाता है कि कारगिल का युद्ध जीतना लगभग असंभव था इस युद्ध आंकड़ों के हिसाब से देखा जाए तो जीतना संभव ही नहीं था क्योंकि दुश्मन पहाड़ की ऊंचाई पर था और हमारे वीर फौजी नीचे जमीन पर और यह सभी साफ रूप से जानते थे कि ऊपरवाला अगर हमला करेगा तो वह एक व्यक्ति 3 को मार सकता है और नीचे वाला सिर्फ एक को किंतु जो भारत के वीर जवान फौजी थे वह बस अपनी मातृभूमि के लिए जितना जानते थे जितना ही उनका एक लक्ष्य था वह या नहीं सोच रहे थे कि इस युद्ध को जीतना संभव है या नहीं उन्होंने अपने हिम्मत की बलबूते पर ऊंचाई पर बैठे दुश्मन को हरा दिया विजय ऊंचाई पर बैठे दुश्मन कि नहीं बल्कि फौजियों की ऊंचे हौसलों की हुई उनकी हिम्मत ही सबसे बड़ी ताकत बनी और भारत ने दिखा दिया कि भारत के फौजी सर्वश्रेष्ठ है कारगिल से से युद्ध को जीत कर भारत में सभी देशों को यह चेतावनी भी दे दी की भारत का एक फौजी  100दुश्मनों पर भारी है और उसी कारगिल में शहीद हुए जवानों को लेकर और उस विजय और उन सब फौजियों को सम्मान देने के लिए विजय दिवस मनाया जाता है कारगिल युद्ध इतिहास का सबसे बड़ा युद्ध माना जाता है भारत इस युद्ध को कभी नहीं भूलेगा ना ही उन जवानों को जिन्होंने अपनी जान पर खेलकर इस मातृभूमि की रक्षा करें वह सब जानते थे कि हमारी मौत संभव है यदि हम इस युद्ध को लड़ने गए किंतु जान हथेली पर रखकर वह सभी कारगिल योद्धा युद्ध में चले गए और दुश्मनों को यह सिखा दिया की हौसले नेक और बुलंद हो तो असंभव को भी संभव किया जा सकता है कारगिल के उन योद्धाओं ने भारत को वह जीत दिलाई है जो जीतना लगभग असंभव ही था हमारे उन शहीद जवानों को सलाम जो इस युद्ध में मरकर भी अमर हो गए अब वह हमारे दिलों में बसते हैं ।



मंदसौर टुडे ग्रुप की ओर से सभी शहीद फौजियों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं और सभी फौजियों को सलाम करते है।

#विजयदिवस
जय हिंद, जय भारत

कोई टिप्पणी नहीं

टिप्पणी पोस्ट करें

Don't Miss

Copyright 2020 All rights reversed by MANDSAUR TODAY