मंदसौर गांव पंचायत सेमलिया हीरा के सरपंच पर ग्रामीणों ने लगाया भ्रष्टाचार का आरोप ।

पट्टे काटने को लेकर भ्रष्टाचार का आरोप 


मंदसौर ग्राम पंचायत सेमलिया हीरा में ग्रामीणों द्वारा गांव के सरपंच के खिलाफ जनपद पंचायत CEO को दिया ज्ञापन गांव के रहने वाले लोगों को नहीं दिए पट्टे पैसे लेकर अवैध रूप से दूसरे गांव के लोगों को दिए गए हैं पट्टे आक्रोशित ग्रामीणों ने इसी बात के चलते जनपद सीईओ को दिया ज्ञापन और कार्यवाही की करी मांग मंदसौर सेमलिया हीरा ग्राम पंचायत से सरपंच पर वही के ग्रामीणों द्वारा लगाया गया यह आरोप अवैध तौर पर वहां पट्टै बांटे गए हैं और सरपंच अपने मिलने वालों को एक ही घर में पांच पांच पट्टे दे रहे हैं और जो लोग हितग्राही है उनको पट्टे नहीं दिए जा रहे हैं ऐसा आरोप गांव के लोगों ने सरपंच पर लगाया है और इसी पर कार्यवाही करवाने के लिए जनपद पंचायत के सीईओ को ज्ञापन दिया गया और बगीचे की जमीन पर भी सरपंच द्वारा पट्टे काटे गए हैं और न्यायालय द्वारा भी पट्टे काटने में हस्तक्षेप किया गया था उस पर भी नियम का पालन नहीं करते  हुए उन प्लाटों को भी पट्टे के रूप में लोगों को दे दिए गए हैं यह आरोप क्षेत्र के ग्रामीणों द्वारा लगाया गया है


ज्ञापन देने आए लोगों से चर्चा

हमारे गांव में सभी कर्ता-धर्ता सरपंच साहब है हमारे गांव में जो मनरेगा का काम हुआ था वह भी सारा मशीनों के द्वारा हुआ था और ना ही कोई काम करने गया तो उसका अंगूठा लगवा कर पैसे निकलवा लिए और कहा कि कोई काम नहीं करना काम सब मशीनों से होगा और हमारे कर्ताधर्ता सब सरपंच साहब भी हैं सचिव का कोई हाथ नहीं है इसमें सरपंच का नाम उषा बाई पति सत्यनारायण कुमावत है हम बस यही चाहते हैं कि अच्छे से जांच हो और सब को अपना हक मिले 

मामला हमारा यह है कि सरपंच द्वारा जो पट्टै काटे गए हैं वह सभी अवैध हैं वास्तव में जिसको वह चाहिए था उसको नहीं दिया गया और जिस को उसकी जरूरत नहीं थी उसको एक ही घर में पांच पांच पट्टे भी दे दिए गए हैं इन्होंने ऐसे पट्टे भी दे दिए जो कोर्ट द्वारा निरस्त किए गए थे कि यहां पर प्लाट ना काटे जाएं मामला पूरा गड़बड़ है और इसकी जांच होना चाहिए मैंने स्वयं ने भी 2017 से पट्टे की मांग की थी पर मुझे अभी तक नहीं मिला और यहां एक ही घर में 5-5 पट्टे दिए जा रहे हैं तो यह कहीं ना कहीं तो गलत है तो इसकी जांच जरूर होना चाहिए

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां