Responsive Ad Slot

News

News

मंदसौर शहर पर फिर छाए कोरोना के बादल है । अफीम का तौल 6 मई से किया जाएगा शुरू ।

मंदसौर शहर में फिर आया करोना का एक नया मामला सामने

कोरोना से मंदसौर ज़िले में दूसरी मौत हुई। जिले मे एक ओर कोरोना मरीज आया सामने मंदसौर के गुजरी नामक इलाके से था एक बुजुर्ग बुजुर्ग की मृत्यु के बाद पता चला की बुजुर्ग कोरोना  पॉजिटिव था कोरोनावायरस खबर से सब तरफ हड़कंप मच गया और प्रशासन ने बुजुर्ग के संपर्क में आने वाले व्यक्तियों के सैंपल इकट्ठा करें और उन्हें भी होम क्वॉरेंटन  कर दिया गया इसी के साथ मंदसौर जिले में कोरोना की मरीजों की संख्या 8 से पढ़ कर 9 हो चुकी है और मरने वालों की संख्या में एक व्यक्ति और जुड़ चुका है यानी कुल 2 व्यक्तियों की अभी तक मंदसौर जिले में कोरोना से मौत हो चुकी है पहले से कंटेटमेट एरिया हे गुदरी क्षेत्र ।
इसी खबर के चलते मंदसौर मैं लॉक डाउन पर सक्ती बढ़ती जा रही है जिसकी वजह से कल दिनांक 27 अप्रैल को सिर्फ दूध की ही सप्लाई होगी। किराना व सब्जी पर प्रतिबंध रहेगा। दूध भी सुबह 10 बजे तक ही सप्लाय होगा। प्रशासन का सहयोग करे। क्योंकि इस मुश्किल घड़ी में आप लोग की अपने आपकी और देश की जान बचा सकते हैं


अफीम का तौल 6 मई से किया जाएगा शुरू

सरकार का मानना है कि अफीम की फसल को ज्यादा समय तक संभाल कर रखना किसानों के लिए बहुत ही मुश्किल भरा काम होता जा रहा है क्योंकि इस फसल को ज्यादा दिनों तक संभाल कर नहीं रखा जा सकता और यह ज्यादा रिस्क भरा भी है

इसलिए मंत्रियों की बैठक में नारकोटिक्स विभाग ने अपनी बात रखी और उन्हें बताया कि लॉक डाउन के चलते किसानों को इस समस्या से कैसे निकाला जाए क्योंकि अफीम का तोल अति आवश्यक है यह समय पर होना सबसे महत्वपूर्ण कार्य है अन्यथा इससे किसानों को बहुत ज्यादा नुकसान होगा इसलिए बैठक के बाद सभी ने निर्णय लिया कि अफीम की फसल का तोल जल्दी से जल्दी आरंभ किया जाए और जितने ज्यादा केंद्रों पर हो सके वहां पर किया जाए जिससे किसान जल्दी से जल्दी अपनी अफीम की फसल का तोड़ करवा पाए इसमें 90 फ़ीसदी फसल का पैसा उसी समय आपकी अकाउंट में डाल दिया जाता है और 10 फ़ीसदी पैसा आपको इस सैंपल की चेक होने के बाद किसानों को दिया जाता है इसलिए सभी निर्णयों के बाद 6 मई से 6 केन्द्रो पर  तोल की प्रक्रिया को शुरू किया जाएगा 
सांसद गुप्ता जी द्वारा सभी किसानों से यह अपील की गई है कि इस मुश्किल की घड़ी में आप सभी लॉक डाउन के नियमों का पालन करें और जो नियम नारकोटिक्स विभाग के केंद्रों द्वारा आपको दिए जाए उनके अनुसार आप अफीम के तोल के लिए आए और उनका पालन करें ताकि कोई भी अव्यवस्था नहीं हो जिससे कि अफीम का तोल अच्छी तरह पूर्ण हो सके ।

इसमें यह नियम हो सकते है

  • सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें ।
  • एक अफीम के पट्टे के साथ एक ही व्यक्ति तोल के लिए आ सकेगा ।
  • आपको मुंह पर मार्क्स लगा कर आना अनिवार्य है
  • आपको अफीम तोल केंद्रों पर निर्देशकों की बात मानना अनिवार्य है बिना बुलाए आपको इधर-उधर नहीं जाना है।



यह जानकारी आप नीचे व्हाट्सएप वाले बटन पर क्लिक करके अपने दोस्तों और मित्रों को जरूर भेजें ताकि उन्हें भी इस खबर का पता चले धन्यवाद

कोई टिप्पणी नहीं

टिप्पणी पोस्ट करें

Don't Miss

Copyright 2020 All rights reversed by MANDSAUR TODAY