Responsive Ad Slot

News

News

मंदसौर के 14 कोरोना संदिग्ध मरीजों की टेस्ट रिपोर्ट आई नेगेटिव प्रशासन को मिली राहत (corona case in mandsaur)

मंदसौर में कोरोना पॉजिटिव की संख्या 0 से 8 हो गई है 

वही मंदसौर के निंबाहेड़ा गांव के 14 लोगों संदिग्ध बताए जा रहे थे जिसके बाद इन सभी को क्वॉरेंटाइन किया गया और इनका कोरोना टेस्ट के लिए सैंपल लिया गया था लेकिन आज इन 14 लोगों की रिपोर्ट नॉर्मल आई है यह कोरोना पॉजिटिव नहीं है यह सभी क्वॉरेंटाइन में इसलिए रखे गए थे क्योंकि यह कोरोना पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आए थे जैसे ही इस बात का प्रशासन को पता चला कि यह 14 लोग कोरोना पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आए थे प्रशासन ने तुरंत एक्शन लेते हुए इन 14 लोगों को क्वॉरेंटाइन कर दिया था और उसके बाद इनकी कोरोना की जांच करवाई किंतु जब आज पता चला कि उन 14 लोगों की रिपोर्ट नॉर्मल आई है तो साथ ही मंदसौर प्रशासन ने राहत की सांस ली अभी 48 घंटों में कोरोना का कोई भी नया केस मंदसौर में नहीं देखा गया है जो कि अच्छी खबर है अभी तक प्रशासन ने सक्ती बरत रखी है जिससे कि कोरोना की कोई और मरीज मंदसौर में ना आए

corona case in mandsaur

CORONA से मध्य प्रदेश का हाल

मध्यप्रदेश में जहां इंदौर कोरोना का सबसे बड़ा हॉटस्पॉट बना हुआ है यहां दिन प्रतिदिन मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है जो कि अनुचित है देखा जाए तो मध्य प्रदेश के कॉल कुल कोरोना मरीज की संख्या 1407 में से अकेले इंदौर में ही 841 मामले दर्ज हुए हैं देखा जाए तो मध्य प्रदेश के कोरोना से संक्रमित व्यक्ति में से 50% लोग एक तरह से यह शर्मिंदगी वाली बात भी है कि जहां इंदौर स्वच्छता में कई सालों से नंबर वन पर आ रहा है वहां आखिर यह हुआ कैसे परंतु कहा जा रहा है की प्रारंभिक तौर पर जब विदेशों से लोग आ रहे थे उस वक्त इंदौर में इस बात को सूक्ष्म रूप में लिया गया जिसके कारण आज उसका परिणाम देखने को मिल रहा है और धीरे-धीरे इंदौर में केस बढ़ते जा रहे हैं इसलिए इंदौर के कलेक्टर द्वारा यह भी आदेश जारी है कि लॉक डाउन में अगर कोई बाहर निकलता है या बिना मार्क्स बाहर कहीं दिखता है तो उस व्यक्ति पर पुलिस प्रशासन कार्यवाही करेगा साथी मध्य प्रदेश के 1407 लोगों में से 72 लोगों की अभी तक मृत्यु हो चुकी हैं और 131 लोग स्वस्थ होकर हॉस्पिटल से पुनः अपने घर भी चले गए हैं हालांकि यह संख्या कम है पर कुछ हद तक किया राहत देती है अभी मध्यप्रदेश में कुल 1202 केस और एक्टिव है जिनका इलाज हॉस्पिटलों में किया जा रहा है


CORONA से भारत के हाल

पूरे भारत में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या धीरे-धीरे बढ़ती जा रही है और यह संख्या अब 17874 हो चुकी है हालांकि भारत अभी दूसरे देशों के मुकाबले इतना संक्रमित नहीं हुआ है किंतु यह संख्या जो भारत में संक्रमित लोगों की है यह भी कुछ कम नहीं है यदि लोगों द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग और योगदान का पालन सही तौर पर नहीं किया गया तो भारत इन देशों के साथ कोरोना मरीजों की संख्या में बराबर पहुंच जाएगा 

अगर आप देखना चाहते हैं कि भारत इस वक्त कोरोना संक्रमण मैं किस स्थान पर है या किस देश में कितने संक्रमित व्यक्ति हैं तो आप यहां CORONA LIVE पर क्लिक करें 

एक और जहां भारत ने दूसरा लॉक डाउन लगाकर बहुत ही हिम्मत दिखाई है यदि लॉकडाउन को नहीं बढ़ाया जाता तो कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की संख्या तकरीबन आज 10 लाख से ऊपर होती क्योंकि दूसरे देशों को देखा जाए तो उनमें आज 500000 तक कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की संख्या पहुंच चुकी है और आंकड़े बताते हैं कि उन देशों के मुकाबले सबसे ज्यादा जनसंख्या अपने देश में है और ज्यादा जनसंख्या मतलब ज्यादा संक्रमण का खतरा है इसलिए लॉक डाउन जैसे फैसले लेकर कहीं हद तक भारत में इस संक्रमण को रोका है नहीं तो जहां आज हम 568 लोगों को गवा चुके हैं यह संख्या हजारों में होती ।

कोई टिप्पणी नहीं

टिप्पणी पोस्ट करें

Don't Miss

Copyright 2020 All rights reversed by MANDSAUR TODAY